सौरभ का सपना टूटा, पांडे पर पाबंदी

सौरभ गांगुली
Image caption सौरभ गांगुली नहीं बिक पाए थे

कोलकाता नाइट राइडर्स के कप्तान रह चुके सौरभ गांगुली के इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के चौथे संस्करण में खेलने का सपना टूट गया है.

साथ ही सहारा वॉरियर्स की नई टीम में लिए गए मनीष पांडे पर चार मैच के लिए प्रतिबंध भी लगाया गया है. उन पर दिशा-निर्देशों का उल्लंघन करने का आरोप है.

पिछले दिनों ये चर्चा तेज़ हुई थी कि नीलामी के दौरान नहीं बिकने वाले सौरभ गांगुली को फिर से किसी टीम में जगह दिलाने की कोशिश हो रही है.

लेकिन शुक्रवार को आईपीएल की गवर्निंग काउंसिल के सदस्य और भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के सचिव एन श्रीनिवासन ने एक बयान जारी करके सारी अटकलबाज़ियों पर विराम लगा दिया है.

पाबंदी

एन श्रीनिवासन ने एक बयान जारी करके कहा है, "सभी टीमों से राय लेने के बाद गवर्निंग काउंसिल इस नतीजे पर पहुँची है कि नीलामी में जो खिलाड़ी नहीं बिक पाए थे, वो अब किसी टीम का हिस्सा नहीं हो सकते."

आठ और नौ जनवरी को आईपीएल के लिए हुई नीलामी में सौरभ गांगुली में किसी भी टीम ने दिलचस्पी नहीं दिखाई थी.

गवर्निंग काउंसिल की लंबी बैठक बाद पत्रकारों से बातचीत में आईपीएल के चेयरमैन चिरायु अमीन ने बताया कि कुछ टीमों की आपत्ति के कारण ये फ़ैसला किया गया है कि गांगुली आईपीएल-4 का हिस्सा नहीं हो सकते.

उन्होंने बताया कि कोच्चि टीम ने गांगुली को नीलामी के बाद ख़रीदने की इच्छा जताई थी.

मनीष पांडे पर पाबंदी के बारे में एन श्रीनिवासन ने बताया कि उन्हें कई टीमों की ओर से शिकायत मिली थी कि मनीष पांडे अपने एजेंट के ज़रिए कई टीमों से एक साथ बातचीत कर रहे थे.

मनीष पांडे अब तक रॉयल चैलेंजर्स बंगलौर का हिस्सा थे लेकिन नीलामी के दौरान पुणे की सहारा वॉरियर्स ने उन्हें ख़रीद लिया था. पाबंदी के कारण वे आईपीएल-4 के चार मैच नहीं खेल पाएँगे.

संबंधित समाचार