क्लाइस्टर्स फिर विश्व नंबर एक बनीं

किम क्लाइस्टर्स इमेज कॉपीरइट Reuters (audio)

बेल्जियम की टेनिस स्टार किम क्लाइस्टर्स एक बार फिर से विश्व की नंबर एक महिला टेनिस खिलाड़ी बन गई हैं.

वो पेरिस ओपन के फ़ाइनल में भी पहुंच चुकी हैं.

उन्होंने नंबर एक की वरीयता फ़्रांस में जारी पेरिस टूर्नामेंट के क्वार्टर फ़ाइनल में जेलेना डोकिच को 6-3 और 6-0 से सीधे सेटों में हरा कर हासिल की.

इससे पहले 27 वर्षीय क्लाइस्टर्स दो बार विश्व नंबर एक पर रह चुकी हैं. सबसे पहले वर्ष 2003 में उन्होंने पहली वरीयता हासिल की थी.

वर्ष 2007 में टेनिस से संन्यास लेने से पहले 2006 में भी उन्होंने पहली वरीयता हासिल की थी.

इस बार क्लाइस्टर्स ने पहली वरीयता कैरोलिन वॉज़नियाकी से हासिल की है. सोमवार से वह विश्व की एक नंबर खिलाड़ी है.

पेरिस ओपन टूर्नामेंट में क्लाइस्टर्स ने सेमीफ़ाइनल में एस्टोनिया की काइया कनेपी को हरा कर फ़ाइनल में प्रवेश कर लिया है.

तीसरा फ़ाइनल

Image caption यूएस ओपन जीत के बाद अपनी बेटी के साथ

क्लाइस्टर्स मेलबॉर्न और सि़डनी के बाद इस साल लगातार तीसरे टूर्नामेंट के फ़ाइनल में पहुंची हैं जहां उनका मुक़ाबला चेक रिपब्लिक की स्टार खिलाड़ी पेटरा क्वितोवा से होगा.

क्लाइस्टर्स ने कनेपी के विरुद्ध पहला सेट तो 6-1 से आसानी के साथ जीत लिया लेकिन दूसरे सेट में मामला टाइब्रेकर में पहुंचा और उन्होंने 7-5 से जीत हासिल की.

वर्ष 2007 में वो मां बनी और इसी कारण वह टेनिस से अलग रहीं लेकिन 2009 में यूएस ओपन जीतकर उन्होंने अंतरराष्ट्रीय टेनिस जगत में ज़बरदस्त वापसी की.

अगले साल उन्होंने यूएस ओपन पर अपना क़ब्ज़ा बरक़रार रखा.

वर्ष 2011 की शुरूआत उन्होंने ऑस्ट्रेलियन ओपन की जीत से की.

क्लाइस्टर्स को उनके टेनिस जीवन के दूसरे दौर में बड़ी कामयाबी मिल रही है जिसका श्रेय वो अपने अनुभव को देती हैं.

संबंधित समाचार