न्यूज़ीलैंड के विरुद्ध खेलेंगे सचिन

  • 15 फरवरी 2011
दूसरे अभ्यास मैच में सचिन तेंदुलकर खेलेंगे इमेज कॉपीरइट AP
Image caption दूसरे अभ्यास मैच में सचिन तेंदुलकर खेलेंगे

ऑस्ट्रेलिया के विरुद्ध पहले अभ्यास मैच से बाहर रहे मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर न्यूज़ीलैंड के विरुद्ध होने वाले अभ्यास मैच में खेलेंगे.

भारतीय क्रिकेट कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने इस बात की पुष्टि की मगर ज़हीर ख़ान अभी तक चोट से पूरी तरह नहीं उबर पाने की वजह से चेन्नई मैच में नहीं होंगे.

इसके अलावा धोनी ने ज़्यादा क्रिकेट के चलते विश्व कप से पहले किसी तरह की थकान से इनकार करते हुए कहा है कि इससे पहले वह अभ्यास मैच में टीम की मनःस्थिति की बात कर रहे थे.

दरअसल ऑस्ट्रेलिया के विरुद्ध बेंगलुरू में हुए अभ्यास मैच में टीम की ख़राब बल्लेबाज़ी का ज़िक्र करते हुए धोनी ने इसके लिए टीम के व्यस्त कार्यक्रम को ज़िम्मेदार ठहराया था.

'थकान नहीं'

मगर मंगलवार को चेन्नई में एक संवाददाता सम्मेलन में धोनी ने कहा कि वह दरअसल अभ्यास मैच में टीम की मनःस्थिति की बात कर रहे थे न कि थकान की.

धोनी के उस बयान की कई पूर्व क्रिकेटरों ने आलोचना करते हुए कहा था कि थकान होने पर धोनी को आईपीएल नहीं खेलना चाहिए.

मगर धोनी ने स्पष्टीकरण देते हुए कहा, "मैं थकान की बात नहीं कर रहा था बल्कि मानसिक रूप से तैयार होने की बात कर रहा था. हम एक अंतरराष्ट्रीय मैच खेलने के आदी हैं ऐसे में एक अभ्यास मैच के लिए तैयार होना अलग बात है."

उनका कहना था कि टीम ने कम ही अभ्यास मैच खेले हैं इसलिए उन मैचों में क्या मनःस्थिति रहे ये पूरी तरह एक अलग अनुभव है.

भारत को चेन्नई में न्यूज़ीलैंड के विरुद्ध दूसरा अभ्यास मैच खेलना है और मामूली चोट की वजह से पहले मैच में नहीं खेले सचिन तेंदुलकर इस मैच में खेलेंगे.

भारत के मुख्य गेंदबाज़ ज़हीर ख़ान भी चोटग्रस्त हैं और अभी वह पूरी तरह नहीं उबरे हैं जिसकी वजह से वह दूसरे अभ्यास मैच में भी शायद नहीं खेल सकें.

'मध्यक्रम से उम्मीदें'

टीम की कोशिश ये है कि वह बांग्लादेश के विरुद्ध ढाका में होने वाले पहले मैच से पहले पूरी तरह फ़िट हो जाएँ.

धोनी ने न्यूज़ीलैंड की फ़ील्डिंग की तारीफ़ करते हुए कहा कि वह टीम किसी एक खिलाड़ी पर निर्भर नहीं रहती बल्कि वहाँ ज़्यादातर लोग अपना योगदान हर तरह से देते हैं.

ऑस्ट्रेलिया के विरुद्ध हुए अभ्यास मैच में भारतीय बल्लेबाज़ी के 214 रनों पर सिमट जाने के बारे में धोनी ने कहा कि टीम को मध्यक्रम से कुछ एक प्रमुख साझेदारियों की उम्मीद थी जो कि नहीं हुई.

उन्होंने कहा कि टीम का स्कोर इतना बड़ा नहीं था कि जीत का दावा किया जा सके मगर स्पिनरों ने भारत को जीत दिलाने में अहम भूमिका निभाई.

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार