मैच से पहले मनोवैज्ञानिक जंग

  • 27 फरवरी 2011
भारतीय खिलाड़ी इमेज कॉपीरइट BBC World Service

रविवार को भारत और इंग्लैंड के बीच बंगलौर में विश्व कप का एक अहम मैच खेला जाएगा. दोनों ही टीमें इस विश्व कप में अपना-अपना पहला मैच जीत चुकी हैं.

एक ओर जहाँ भारत को विश्व कप के ख़िताब का तगड़ा दावेदार माना जा रहा है, वहीं इंग्लैंड को उम्मीद है कि पिछले कुछ समय से चल रहा उनका अच्छा प्रदर्शन विश्व कप में जारी रहेगा.

लेकिन इस मैच से पहले दोनों देशों के खिलाड़ियों और कप्तानों के बीच मनोवैज्ञानिक जंग शुरू हो गई है.

जहाँ इंग्लैंड के कप्तान एंड्रयू स्ट्रॉस ने स्पिनर हरभजन सिंह को निशाना बनाया है, वहीं भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने चेतावनी दी है कि अगर सहवाग चले तो इंग्लैंड को मुश्किलों का सामना करना पड़ सकता है.

सहवाग ने बांग्लादेश के ख़िलाफ़ मैच में धमाकेदार पारी खेली थी और सिर्फ़ 140 गेंदों पर 175 रन ठोंक डाले थे.

धोनी ने कहा, "सहवाग की भूमिका एक आक्रामक खिलाड़ी की है, जो अच्छी शुरुआत देता है. अगर सहवाग ने अच्छी शुरुआत दी, तो मध्यक्रम उसे अच्छे स्कोर में बदल सकता है."

सक्षम

एक दिन पहले नेट प्रैक्टिस के दौरान सहवाग को चोट लग गई थी लेकिन कप्तान धोनी का कहना है कि सहवाग इंग्लैंड के ख़िलाफ़ खेलने के लिए फ़िट हैं. धोनी ने कहा कि सिर्फ़ आशीष नेहरा अभी पूरी तरह फ़िट नहीं हैं.

दूसरी ओर इंग्लैंड के कप्तान एंड्रयू स्ट्रॉस ने कहा है कि उनके बल्लेबाज़ भारतीय स्पिनरों से निपटने में पूरी तरह सक्षम हैं. उन्होंने कहा कि अगर स्पिनरों में कोई प्रतिद्वंद्विता होती है, तो उनके पास हरभजन सिंह के मुक़ाबले ग्रैम स्वान हैं.

स्ट्रॉस ने कहा, "उनके पास भी स्पिनर हैं और हमारे पास भी. अब ये देखने वाली बात होगी कि किसके खिलाड़ी स्पिनरों को अच्छी तरह खेलते हैं."

स्ट्रॉस ने यह भी कहा कि उनके पास पीटरसन जैसा धमाकेदार शुरुआत देने वाला बल्लेबाज़ भी है. उन्होंने कहा कि ये देखने वाली बात होगी कि भारत की ओर से सचिन तेंदुलकर कैसी पारी खेलते हैं.

इस विश्व कप में पीटरसन ने इंग्लैंड की ओर से पारी की शुरुआत की है.

भारत ने अपने पहले मैच में बांग्लादेश को हराया था, तो इंग्लैंड ने नीदरलैंड्स को मात दी थी.

संबंधित समाचार