'कोई नहीं विश्व कप जीतने का फ़ेवरिट'

  • 4 मार्च 2011
इमरान ख़ान इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption इमरान मानते हैं कि टूर्नामेंट जीतने के लिए इस बार कोई फ़ेवरिट टीम नहीं है

पाकिस्तान को विश्व कप जिताने वाली टीम के कप्तान इमरान ख़ान का कहना है कि पिछली कई बार से अलग इस बार कोई एक टीम विश्व कप जीतने की सबसे बड़ी दावेदार नहीं दिख रही है.

इमरान ने कहा कि भारत, श्रीलंका और बांग्लादेश में संयुक्त रूप से आयोजित हो रहे इस विश्व कप के शुरुआती मैचों ने दिखा दिया है कि कोई एक टीम बाक़ी टीमों से ऊपर नहीं है.

उन्होंने समाचार एजेंसी रॉयटर्स से कहा, "अब तक जितने विश्व कप मैंने देखे हैं उनमें ये पहली बार है कि कोई एक टीम जीत की सबसे बड़ी दावेदार नहीं दिख रही. भारत और इंग्लैंड के बीच हुए मैच का नतीजा और आयरलैंड के हाथों इंग्लैंड की हार के बाद मुझे नहीं लगता कि कोई टीम टूर्नामेंट जीतने की होड़ में सबसे आगे है."

आयरलैंड ने विश्व कप के 36 वर्षों के इतिहास के सबसे बड़े उलट-फेर में से एक में इंग्लैंड को तीन विकेट से हरा दिया था. बाद में बल्लेबाज़ी करते हुए आयरलैंड ने 328 रनों का लक्ष्य हासिल कर लिया. जबकि भारत और इंग्लैंड का मैच 338 रनों के स्कोर पर टाई हो गया था.

गेंदबाज़ी होगी अहम

इमरान ने कहा, "जैसे-जैसे प्रतियोगिता आगे बढ़ेगी इन तीनों ही देशों की पिचें बल्लेबाज़ों को मदद करेंगी. इसके अलावा गर्मी भी बढ़ती जाएगी. इसलिए आपके पास अधिकतम गेंदबाज़ ऐसे होने चाहिए जो विकेट लेने वाले हों."

उन्होंने इंग्लैंड के विरुद्ध भारत की कमज़ोर गेंदबाज़ी का ज़िक्र करते हुए कहा, "जिन टीमों में विविधता नहीं होगी, तेज़ गेंदबाज़ नहीं होंगे और वे बल्लेबाज़ी करने वाले ऑलराउंडरों पर निर्भर होंगी- ऐसी टीमें मुश्किलों का सामना करती दिख रही हैं."

इमेज कॉपीरइट Getty
Image caption केविन ओ ब्रायन की पारी से काफ़ी ख़ुश हैं इमरान

वह मानते हैं कि आयरलैंड अभी इस टूर्नामेंट में एक-दो उलटफेर और कर सकता है.

ओ ब्रायन की पारी

महज़ 50 गेंदों में 100 रन बनाने वाले आयरलैंड के केविन ओ ब्रायन के बारे में इमरान ने कहा, "मैंने अपने जीवन में जो भी एकदिवसीय मैचों की पारियाँ देखी हैं केविन ओ ब्रायन की पारी उनमें सबसे बेहतरीन पारियों में से एक थी."

उनके अनुसार, "जिन टीमों के पास 300 से बड़े स्कोर का पीछा करने की मानसिक ताक़त है उनका सम्मान किया जाना चाहिए."

इमरान का कहना था कि कनाडा के विरुद्ध पाकिस्तान का जो प्रदर्शन था वो उनके लिए एक तरह से चेतावनी है. पाकिस्तान उस मैच में 184 रनों पर आउट होने के बाद 46 रनों से जीता था.

उनके लिए असली मुक़ाबले क्वॉर्टर फ़ाइनल से शुरू होंगे, "मेरे लिए असली टूर्नामेंट नॉक आउट स्टेज से शुरू होगा. मेरे ख़्याल से तो आईसीसी को भावी विश्व कप के फ़ॉर्मेट पर सोचना चाहिए."

संबंधित समाचार