श्रीलंका ने ज़िम्बाब्वे को हराया

तिलकरत्ने दिलशान और उपुल तरंगा इमेज कॉपीरइट Getty
Image caption तिलकरत्ने दिलशान और उपुल तरंगा ने पहले विकेट के लिए विश्व कप में वर्ल्ड रिकॉर्ड बना दिया

श्रीलंका के कैंडी में हुए क्रिकेट विश्व कप के मैच में श्रीलंका ने ज़िम्बाब्वे को 139 रनों से हरा दिया है.

ज़िम्बाब्वे की टीम 328 रनों के लक्ष्य का पीछा करती हुई सिर्फ़ 188 रन बनाकर आउट हो गई.

ज़िम्बाब्वे की टीम 328 रनों के लक्ष्य का पीछा करती हुई सिर्फ़ 188 रन बनाकर आउट हो गई.

ज़िंबाबवे की टीम ने श्रीलंका के लक्ष्य का बहुत तेज़ी से पीछा करते हुए 100 गेंदों में 100 रन बना डाले.

पर पहला विकेट गिरने के बाद ज़िंबाबवे की टीम मैच में वापसी करने में नाकाम रही.

अगले बीस ओवरों में ज़िंबाबवे के विकेट लगातार गिरते रहे और निर्धारित 328 रनों का लक्ष्य दूर होता चला गया.

श्रीलंका की ओर दिलशान ने चार और मुरलीधरन ने तीन विकेट लिए.

दिलशान ने पहले तो बल्लेबाज़ी में जौहर दिखाते हुए 144 रन बनाए और उसके बाद कमाल की गेंदबाज़ी की.

दिलशान ने तीन ओवरों में चार रन देकर चार विकेट झटके.

ज़िम्बाब्वे के ओपनर ब्रैंडन टेलर ने 80 रन बनाए लेकिन उनके अलावा टीम के बल्लेबाज़ कुछ ख़ास नहीं कर पाए.

श्रीलंका की ओर दिलशान ने चार और मुरलीधरन ने तीन विकेट लिए.

दिलशान ने पहले तो बल्लेबाज़ी में जौहर दिखाते हुए 144 रन बनाए और उसके बाद कमाल की गेंदबाज़ी की.

दिलशान ने तीन ओवरों में चार रन देकर चार विकेट झटके.

ज़िम्बाब्वे के ओपनर ब्रैंडन टेलर ने 80 रन बनाए लेकिन उनके अलावा टीम के बल्लेबाज़ कुछ ख़ास नहीं कर पाए.

रिकॉर्ड साझेदारी

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption क्रिस एम्पोफ़ू ने चार विकेट लिए

श्रीलंका के उपुल तरंगा और तिलकरत्ने दिलशान की सलामी जोड़ी ने क्रिकेट वर्ल्ड कप में पहले विकेट की साझेदारी का रिकॉर्ड बना दिया.

मैच का ताज़ा स्कोर देखने के लिए क्लिक करें

ज़िम्बाब्वे के विरुद्ध इस जोड़ी ने 282 रन जोड़े जबकि तरंगा 133 रन बनाकर आउट हो गए. वैसे पहले विकेट की आज तक की सबसे बड़ी साझेदारी का रिकॉर्ड तोड़ने से ये जोड़ी सिर्फ़ चार रनों से चूक गई.

उस रिकॉर्ड में भी तरंगा साझीदार थे. उन्होंने विस्फोटक बल्लेबाज़ सनत जयसूर्या के साथ मिलकर 2006 में इंग्लैंड के विरुद्ध लीड्स में 286 रनों का रिकॉर्ड बनाया था.

इस बार उनके साझीदार तिलकरत्ने दिलशान ने 131 गेंदों में 144 रनों की पारी खेली जिसमें 16 चौके और एक छक्का शामिल था. ये दोनों खिलाड़ी मैच के 45वें ओवर तक क्रीज़ पर रहे.

उस ओवर में तरंगा आउट हुए और अगले ही ओवर में दिलशान भी आउट हो गए. उसके बाद थिसारा परेरा, महेला जयवर्द्धने, एंजेलो मैथ्यूज़ और चमारासिल्वा जल्दी-जल्दी आउट हो गए.

मगर सलामी बल्लेबाज़ों की बड़ी पारी का मतलब था कि ज़िम्बाब्वे के सामने श्रीलंका ने छह विकेट पर 327 रनों का बड़ा लक्ष्य खड़ा कर दिया. ज़िम्बाब्वे की ओर से क्रिस एम्पोफ़ू ने चार विकेट लिए.

संबंधित समाचार