बाहर हो सकता है भारत

  • 14 मार्च 2011
भारतीय टीम इमेज कॉपीरइट AFP

भारतीय टीम विश्व कप के ग्रुप मैचों से बाहर हो सकती है, आपको ये सुनकर शायद झटका लगे. लेकिन ये सच्चाई है.

अगर बाक़ी मैचों के नतीजों का आकलन करें, तो कुछ स्थितियों में भारत के क्वार्टर फ़ाइनल में न पहुँचने की भी संभावना है.

अगर भारत की टीम अपना आख़िरी लीग मैच वेस्टइंडीज़ से हार जाए, फिर वेस्टइंडीज़ की टीम इंग्लैंड से हार जाए. बांग्लादेश की टीम दक्षिण अफ़्रीका को हरा दे और दक्षिण अफ़्रीका आयरलैंड को मात दे दे.

अगर ऐसा हुआ तो तीन टीमों दक्षिण अफ़्रीका, वेस्टइंडीज़ और बांग्लादेश के आठ-आठ अंक होंगे, जबकि इंग्लैंड और भारत के सात-सात अंक होंगे.

रन गति

इसका मतलब ये हुआ कि ऐसी स्थिति में चौथी टीम का फ़ैसला रन गति के आधार पर होगा. अभी भारत की रन गति इंग्लैंड से ज़्यादा है. लेकिन वेस्टइंडीज़ से बड़ी हार और इंग्लैंड की बड़ी जीत सारे समीकरण बदल सकती है.

और अगर रन गति में इंग्लैंड ने भारत को पछाड़ दिया, तो भारत की टीम क्वार्टर फ़ाइनल से बाहर हो जाएगी. हालाँकि ये अभी समीकरण हैं.

लेकिन इससे ये भी स्पष्ट होता है कि सिर्फ़ एक हार के बावजूद भारत के क्वार्टर फ़ाइनल में पहुँचने की अभी तक गारंटी नहीं है.

भारत की टीम ने बांग्लादेश, आयरलैंड और नीदरलैंड्स को हराया है, इंग्लैंड से उसका मैच टाई हो गया था जबकि दक्षिण अफ़्रीका ने उसे हरा दिया था.

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार