पाकिस्तान को आना पड़ेगा भारत

पाकिस्तान टीम इमेज कॉपीरइट AFP

क्वॉर्टर फ़ाइनल में वेस्टइंडीज़ को बुरी तरह 10 विकेट से धोने वाली पाकिस्तान की टीम अभी तक भले ही विश्व कप में भारतीय सरज़मीं से दूर रही हो मगर अब उसे भारत आना ही पड़ेगा.

पाकिस्तान को भारत और ऑस्ट्रेलिया के मैच के विजेता से मोहाली में सेमीफ़ाइनल खेलना होगा. पाकिस्तान ने लीग स्तर के सारे मैच श्रीलंका में ही खेले थे जबकि क्वॉर्टर फ़ाइनल मैच ढाका में हुआ.

पाकिस्तान से जब सुरक्षा कारणों से इस विश्व कप की मेज़बानी ली गई तो उसने ये शर्त रखी थी कि उसके सारे मैच श्रीलंका में होने चाहिए.

मगर बुधवार को अहमदाबाद में एक संवाददाता सम्मेलन में आईसीसी के अध्यक्ष हारून लोर्गाट ने स्पष्ट किया कि पाकिस्तान को सेमीफ़ाइनल खेलने मोहाली आना होगा.

आईसीसी ने लीग मैचों के दौरान ही ये घोषणा कर दी थी कि मेज़बान देश नॉक आउट मैच अपने देश में खेलेंगे और अगर दो मेज़बान देशों का नॉक आउट मैच एक दूसरे के विरुद्ध हो गया तो जिसकी आईसीसी में वरीयता ऊँची होगी मैच वहाँ खेला जाएगा.

इनकार

भारत आईसीसी की रैंकिंग में बाक़ी सभी मेज़बान देशों से ऊपर है यानी कि भारत नॉक आउट में जितने भी मैच खेलेगा वो सब अपने ही देश में होंगे.

वैसे जब लोर्गाट से ये पूछा गया कि अगर ऑस्ट्रेलिया और भारत के मैच में भारत हार जाता है तब क्या पाकिस्तान का सेमीफ़ाइनल मैच कोलंबो स्थानांतरित करने के बारे में सोचा जा सकता है तो लोर्गाट ने उस संभावना से इनकार कर दिया.

अब भले ही भारत सेमीफ़ाइनल में पहुँचे या न पहुँचे पाकिस्तान को भारत आना ही पड़ेगा.

भारत में पाकिस्तान की टीम की सुरक्षा को लेकर भी चिंताएँ जताई जाती रही हैं मगर आईसीसी ने उन चिंताओं को दरकिनार करते हुए कहा कि भारत में सुरक्षा की पुख़्ता व्यवस्था है और किसी तरह की कोई चिंता नहीं है.

साथ ही पाकिस्तानी क्रिकेट प्रेमियों और पत्रकारों के भारत आने के बारे में लोर्गाट ने कहा कि इसकी समुचित व्यवस्था की जाएगी.

वैसे अगर ऑस्ट्रेलिया को हराकर भारत विश्व कप के सेमीफ़ाइनल में जगह बना लेती है तो भारत और पाकिस्तान की पारंपरिक प्रतिद्वन्द्विता को देखते हुए मोहाली का वो सेमीफ़ाइनल ही इस विश्व कप का सबसे अहम मैच बन जाएगा.

संबंधित समाचार