भारत पाक सेमीफ़ाइनल?

  • 24 मार्च 2011
सचिन तेंदुलकर इमेज कॉपीरइट Reuters

भारत और पाकिस्तान अगर एक आम मैच भी खेलें तो उस मैच की अहमियत काफ़ी होती है. अब अगर सेमीफ़ाइनल में इन दोनों टीमों के भिड़ने की संभावना हो जाए तब?

इस रोचक संभावना से क्रिकेट प्रेमी तो उत्साहित हैं ही, लगता है अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद भी उत्साहित है क्योंकि हारून लोर्गाट अहमदाबाद में संवाददाता सम्मेलन में आए और उन्होंने क्वॉर्टर फ़ाइनल मैचों का ज़िक्र शुरू किया तो पहले बोले कि ‘भारत और पाकिस्तान के मैच का विजेता मोहाली में खेलेगा’.

इससे पहले कि वह आगे बढ़ते उनके साथियों और मीडिया वालों ने उन्हें याद दिलाया कि अभी क्वॉर्टर फ़ाइनल में ये दोनों टीमें अलग-अलग खेल रही हैं.

भारतीय उपमहाद्वीप में क्रिकेट से आईसीसी को काफ़ी मुनाफ़ा होता है और वहाँ भारत-पाकिस्तान के मैच की तो बात ही क्या होगी, कहीं ऐसा तो नहीं कि नज़र उस मुनाफ़े पर रखे हुए लोर्गाट साहब दिल की बात बोल गए.

सचिन और विश्व कप

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption भारत पाकिस्तान सेमीफ़ाइनल की संभावना से आईसीसी भी उत्साहित है.

वैसे भारत और पाकिस्तान जैसे देश इस टूर्नामेंट से पिछली बार की तरह जल्दी ही रुख़सत न हो जाएँ इसलिए इस बार ऐसा फ़ॉर्मेट बनाया गया जहाँ दोनों टीमें कम से कम क्वॉर्टर फ़ाइनल तक तो पहुँचे हीं.

पिछली बार प्रायोजकों को भारी नुक़सान उठाना पड़ा था क्योंकि क्रिकेट के बड़े प्रायोजक भारतीय बाज़ार को निशाना बनाते हैं.

अब ऐसे में सचिन तेंदुलकर की लोकप्रियता को भी भुनाने का उन्हें मौक़ा मिलता है.

जब लोर्गाट से ये पूछा गया कि भारत में खेल प्रेमियों की इस दीवानगी को देखते हुए क्या ये अच्छा नहीं होता कि फ़ाइनल वानखेड़े की जगह किसी बड़े मैदान में कराया जाता?

लोर्गाट बोले कि ‘आपको हर चीज़ को ध्यान में रखकर फ़ैसला करना पड़ता है. सोचिए अगर सचिन तेंदुलकर उस मैदान पर फ़ाइनल में शतक जड़ दें और भारत ख़िताब जीत जाए.’

सुनने वाले थोड़ा सोच में पड़ गए कि ये आईसीसी के अध्यक्ष बोल रहे हैं या भारतीय क्रिकेट नियंत्रण बोर्ड के अध्यक्ष हैं जिन्होंने बात ही बात में भारत को फ़ाइनल में पहुँचा दिया, सचिन का शतक भी लगा दिया और भारत को विश्व कप भी जिता दिया.

इसके बाद वह बोले, ‘वैसे भी मैच कहीं भी हो हमारे पास कभी भी पूरे टिकट नहीं होते.’ बात हमारे भी समझ में आ गई कि क्रिकेट का ये विश्व कप कौन सा स्टेडियम में बैठे दर्शकों के मनोरंजन के लिए कराया जाता है, ये तो टीवी पर क्रिकेट देख रहे उपभोक्ताओं का खेल बनकर रह गया है.

सचिन और पॉन्टिंग

वैसे भारत में क्रिकेट की बात हो तो सचिन तेंदुलकर की किसी भी तरह अनदेखी नहीं की जा सकती.

रिकी पॉन्टिंग से संवाददाताओं ने पूछा कि विश्व कप जैसे मुक़ाबले में सचिन और पॉन्टिंग आख़िरी बार आमने-सामने होंगे तो पॉन्टिंग बातों ही बातों में सचिन की तारीफ़ कर गए.

पॉन्टिंग बोले, “जहाँ तक हमारे अंतिम विश्व कप की बात है तो सचिन जिस फ़ॉर्म में हैं वो तो अभी एक और विश्व कप खेल सकते हैं. मैं उम्मीद कर रहा हूँ कि कल के मैच से मैं भी फ़ॉर्म में लौट आउँगा और अगले विश्व कप तक खेल सकूँगा.”

वैसे सचिन के अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 99 शतक हो चुके हैं और अब हर मैच से पहले बेसब्री से सचिन के उस 100वें शतक का इंतज़ार हो रहा है इसलिए चाहे वो लोर्गाट हों या पॉन्टिंग और या धोनी सबसे सचिन के उस शतक पर प्रतिक्रिया मीडिया वाले अभी से लेने में लग गए हैं.

संबंधित समाचार