ख़ास है ऑस्ट्रेलिया पर मिली जीत

युवराज सिंह इमेज कॉपीरइट Reuters

ऑस्ट्रेलिया को हराने के बाद भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने युवराज सिंह की जम कर सराहना की है. मैन ऑफ़ द मैच युवराज ने इस मैच में न सिर्फ़ अच्छी बल्लेबाज़ी की, बल्कि दो विकेट भी लिए.

ऑस्ट्रेलिया को पाँच विकेट से परास्त करने के बाद ख़ुशी से गदगद धोनी ने कहा, "युवराज सिंह और सुरेश रैना से उम्मीद थी कि वे रन बनाएँगे. जिस तरह युवराज खेल रहे थे, मुझे उम्मीद थी कि हम जीत जाएँगे."

धोनी ने यह भी स्वीकार किया कि दबाव में संयम से खेलना सबसे महत्वपूर्ण बात थी, जिसे इन दोनों खिलाड़ियों ने अच्छे से निभाया.

एक समय भारत के पाँच विकेट 187 रन पर गिर गए थे. उस समय भारतीय टीम पर काफ़ी दबाव था. लेकिन युवराज सिंह और सुरेश रैना ने संयम से खेलते हुए अच्छी साझेदारी की.

दबाव

एक समय दबाव में दिख रही भारतीय टीम 14 गेंद रहते ये मैच पाँच विकेट से जीत गई. मैन ऑफ़ द मैच रहे युवराज सिंह ने कहा कि टीम पर काफ़ी दबाव था.

युवराज ने कहा, "हम पर काफ़ी दबाव था. मैं जानता था कि धोनी के बाद सुरेश रैना आएँगे. इसलिए मैं सिर्फ़ इक्का-दुक्का रन ले रहा था और संभल कर खेल रहा था."

युवराज ने कहा कि लगातार तीन बार विश्व कप जीतने वाली ऑस्ट्रेलिया की टीम को हराना बहुत ख़ास है. उन्होंने कहा कि विश्व कप में उनका प्रदर्शन अच्छा रहा है और वे अपने देश के लिए मैच जीतने पर ध्यान दे रहा हूँ.

इस मैच में ऑस्ट्रेलिया के कप्तान रिकी पोंटिंग ने भी अच्छी पारी खेली और 104 रन बनाए.

लेकिन ऑस्ट्रेलियाई मध्यक्रम ने इस मैच में निराश किया और रन नहीं बटोर पाए. मैच के बाद रिकी पोंटिंग ने कहा, "260 रन कम नहीं था, लेकिन हमने अच्छी गेंदबाज़ी नहीं की. युवराज और रैना ने अच्छी बल्लेबाज़ी की."

संबंधित समाचार