पाकिस्तान के अख़बार झूमे भारत की जीत पर

वर्ल्ड कप इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption भारतीय क्रिकेट का 28 साल का सूखा टूटा

पाकिस्तान के सभी अख़बारों ने क्रिकेट विश्व कप में भारतीय टीम की ऐतिहासिक जीत को मुख्य ख़बर बनाया है और कुछ अख़बारों ने पहले पन्ने पर नए विश्व चैंपियन की तस्वीरें भी प्रकाशित की हैं.

अंग्रेज़ी अख़बार ‘डेली डॉन’ ने लिखा है कि भारत ने मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में श्रीलंका को हरा कर इतिहास रच दिया और इस ख़िताब के लिए अपनी 28 वर्षीय पुराने इंतज़ार को ख़त्म कर दिया है.

अख़बार आगे लिखता है कि वीरेंदर सहवाग और सचिन तेंदुलकर के जल्द वापस लौट जाने के बाद कप्तान महेंद्र सिंह धोनी और गौतम गंभीर की ज़बरदस्त पारियों ने भारतीय टीम को चुनौती भरे लक्ष्य तक पहुँचा दिया.

अख़बार के अनुसार पाकिस्तान के प्रधानमंत्री यूसुफ़ रज़ा गिलानी ने विश्व कप में भारतीय टीम की जीत पर अपने भारतीय समकक्ष मनमोहन सिंह को बधाई दी है.

एक ओर अंग्रेज़ी अख़बार ‘दी एक्सप्रेस ट्रिब्यून’ ने भी इस ख़बर को पहले पन्ने पर जगह दी और लिखा है कि भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने अपनी टीम को विश्व कप का चैंपियन बना दिया और ख़िताब अपने नाम कर लिया.

अख़बार ने लिखा है कि जब भारतीय टीम ने मुंबई में इतिहास रचा तो शहर में ख़ुशी का माहौल था और लोग सड़कों पर निकाल आए और अपनी टीम को बधाई दी.

ज़बर्दस्त धोनी

उर्दू भाषा के अख़बार ‘रोज़नामा जंग’ ने लिखा है कि मुंबई में स्टेडियम में हज़ारों प्रशंसकों और दुनिया भर में मौजूद क्रिकेट प्रेमियों की निगाहों के सामने महेंद्र सिंह धोनी के नेतृत्व में भारतीय टीम ने विश्व कप का मुकुट अपने सर सजा लिया.

अख़बार के अनुसार महेंद्र सिंह धोनी और गौतम गंभीर की बेहतरीन भूमिका ने भारत के लिए जीत का रास्ता साफ किया. युवराज सिंह ने भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई.

उर्दू के एक ओर अख़बार ‘रोज़नामा एक्सप्रेस’ ने लिखा है कि भारत ने कड़े मुक़ाबले के बाद श्रीलंका को हरा कर विश्व कप के चैंपियन का ख़िताब हासिल कर लिया और अपने होम-ग्राऊँड पर फ़ाईनल जीतने वाला भारत पहला देश बन गया.

अख़बार ने अपने पहले पन्ने पर भारतीय टीम की एक तस्वीर प्रकाशित की है और जिस में कप्तान महेंद्र सिंह धोनी और युवराज सिंह ख़ुशी से झूम रहे हैं.

कुछ समाचार पत्रों ने अपने संपादकीय में भारतीय टीम के इस ऐतिहासिक क्षणों पर अपना विश्लेषण छापा है.

संबंधित समाचार