टीम को मिली असली ट्रॉफ़ी: आईसीसी

  • 4 अप्रैल 2011

अंतरराष्ट्रईय क्रिकेट परिषद (आईसीसी ) ने इस बात से इनकार किया है कि क्रिकेट विश्व कप में जीत के बाद भारतीय टीम को जो ट्रॉफ़ी दी गई थी वो असल ट्रॉफ़ी की प्रतिकृति मात्र थी.

मीडिया में इस तरह की रिपोर्टें आ रही हैं कि भारतीय टीम को ट्राफ़ी का रेप्लिका या प्रतिकृति दे दी गई जबकि असल कप मुंबई में सीमा शुल्क विभाग के पास अटकी पड़ी है क्योंकि उस पर शुल्क अदा नहीं किया गया है.

इन रिपोर्टों के बाद आईसीसी ने एक मीडिया रिलीज़ में साफ़-साफ़ कहा है कि शनिवार को वानखेड़े स्टेडियम में भारतीय टीम को मूल ट्रॉफ़ी दी गई है.

आईसीसी ने कहा है, “इस बात का कोई सवाल ही नहीं है कि भारतीय टीम को असली ट्रॉफ़ी नहीं दी गई है. इस कप पर आईसीसी क्रिकेट विश्व कप 2011 का विशेष लोगो है. यही वो कप है जिसके लिए 14 टीमों ने प्रतियोगिता में हिस्सा लिया.”

मुंबई में सीमा शुल्क विभाग के पास पड़े कप के बारे में आईसीसी ने स्पष्टीकरण दिया है कि वो एक प्रोमोश्नल ट्रॉफ़ी है जो आमतौर पर दुबई में आईसीसी के मुख्यालय में रहती है.

आईसीसी के मुताबिक इस प्रोमोश्नल कप में आईसीसी का कॉर्पोरेट लोगो होता है न कि 2011 विश्व कप का लोगो और इसे सोमवार को दुबई ले जाया जाएगा.

विश्व कप में जीत के बाद से महेंद्र सिंह धोनी समेत कई खिलाड़ियों ने गेटवे ऑफ़ इंडिया पर जाकर ट्रॉफ़ी के साथ फ़ोटो खिंचवाई हैं.

वर्ल्ड कप के असली या नकली होने को लेकर हुए विवाद पर कई पूर्व खिलाड़ियों ने नाराज़गी जताई है.

संबंधित समाचार