गुरु गैरी ने कहा अलविदा

गैरी कर्स्टन इमेज कॉपीरइट AP

भारत को क्रिकेट विश्व कप दिलाने के बाद कोच पद से हट रहे गैरी कर्स्टन ने भारत छोड़ने से पहले कहा कि इस बार अलविदा कहना उनके सबसे मुश्किल क्षणों में रहा है.

उन्होंने सभी भारतवासियों को धन्यवाद दिया, खासकर जिस तरह देश ने उन्हें और उनके परिवार को स्वीकार किया और अपनाया.

उन्होंने सचिन तेंदुलकर को भी धन्यवाद दिया और धोनी को दुनिया का सबसे बेहतरीन कप्तान बताया.

कर्स्टन ने कहा, "मैं सचिन को उनकी दोस्ती के लिए धन्यवाद देना चाहता हूँ. वे खेल के सबसे बड़े आदर्श हैं जिनसे मैं मिला हूँ. उनकी नम्रता, नैतिकता और क्रिकेट के प्रति उनका प्यार मुझे खुशी देने वाला था."

गैरी कर्स्टन ने भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की भी जम कर तारीफ की. उन्होंने कहा, "मैं कहना चाहता हूँ कि एमएस (धोनी) के रूप में भारत के पास एक बड़ा नेता है. पिछले तीन सालों में उनके साथ काम करना गौरान्वित करने वाला था."

खिलाड़ियों की तारीफ़

तीन साल भारतीय क्रिकेट टीम के कोच पद पर रहने के बाद गैरी कर्स्टन मंगलवार को अपनी पत्नी के साथ अपने देश दक्षिण अफ़्रीका रवाना हो रहे हैं.

हालांकि उनसे अनुरोध किया गया था कि वे भारतीय टीम के कोच बने रहें लेकिन उन्होंने अपना कार्यकाल बढ़ाने से इनकार कर दिया था.

उनके कार्यकाल में भारतीय टीम विश्व की नंबर वन टेस्ट टीम और दूसरे नंबर की एक दिवसीय टीम बनी.

जिस दिन विश्व कप में भारत को जीत मिली खिलाड़ियों ने गैरी कर्स्टन को अपने कंधे पर बिठाकर घुमाया था और उनके प्रति टीम के आदर के रुप में देखा गया था.

कर्स्टन ने हालांकि ये नहीं बताया है कि भारत के बाद वो अपनी विशेषज्ञता का इस्तेमाल किस टीम के लिए करेंगे. उन्होंने कहा कि वो अपना कुछ वक्त परिवार के साथ बिताना चाहते हैं.

कर्स्टन ने कहा कि उन्होंने देश के कई हिस्सों का दौरा किया और वो ये देखकर हैरान हैं कि इस देश में क्रिकेट के लिए कितना प्यार है.

उन्होंने कहा कि वो बार-बार भारत वापस आते रहेंगे.

गैरी कर्स्टन ने कहा कि टीम ने ऊंचे मापदंड तय किए हैं और उनका कहना था कि नए कोच को अपने विचारों में नवीनता लानी होगी ताकि खिलाड़ी सकारात्मक प्रतिक्रिया दें.

इमेज कॉपीरइट Getty

उन्होंने कहा कि उन्हें दुख है कि विश्वकप के दौरान दक्षिण अफ़्रीका का प्रदर्शन अच्छा नहीं रहा.

दक्षिण अफ़्रीका को बड़े मैचों को हारने की वजह से ‘चोकर’ पुकारे जाने पर उन्होंने कहा कि अगर आपके विरोधी पक्ष की मीडिया ऐसी बात कहे तो समझ में आता है, लेकिन अगर आपके देश की मीडिया आपको ‘चोकर्स’ कह कर पुकारे तो ये चिंता की बात है.

खिलाड़ियों पर अपने विचार व्यक्त करते हुए उन्होंने कहा कि विराट कोहली अब टेस्ट क्रिकेट के लिए तैयार हैं और इशांत शर्मा में भविष्य के स्टार बन सकते हैं.

उन्होंने रैना, प्रज्ञान ओझा, मुनाफ़ और पुजारा की भी तारीफ़ की.

कर्स्टन ने ज़हीर खान को 135 किलोमीटर की गति से गेंदबाज़ी करने वाला विश्व का सबसे बेहतरीन गेंदबाज़ बताया.

उन्होंने कहा कि ज़हीर दबाव के दौरान अच्छा प्रदर्शन करते हैं और जिस तरह से वो बाएँ हाथ के बल्लेबाज़ों को गेंदबाज़ी करवाते हैं, वो आश्चर्यजनक होता है.

मैन ऑफ़ द टूर्नामेंट रहे युवराज सिंह पर पूछे गए एक सवाल पर कर्स्टन ने कहा कि उन्हें क़रीब छह महीन पहले ही युवी में हो रहे बदलाव का एहसास हो गया था और उन्हें उन पर बहुत गर्व है.

श्रीसंत पर पूछे एक सवाल पर उन्होंने कहा कि श्रीसंत को एक जैसा प्रदर्शन करने पर काम करने की ज़रूरत है.

संबंधित समाचार