अफ़रीदी पर युवी-भज्जी का 'बाउंसर'

भज्जी और शाहिद अफ़रीदी इमेज कॉपीरइट AP

पाकिस्तान के कप्तान शाहिद अफ़रीदी के बयान पर अब भारतीय क्रिकेटरों ने भी कड़ी प्रतिक्रिया देनी शुरू कर दी है.

अफ़रीदी ने पाकिस्तान में मीडिया से बातचीत में कहा था कि भारत के लोग पाकिस्तानी लोगों की तरह बड़े दिलवाले नहीं हैं.

हालाँकि अफ़रीदी के इस बयान की पाकिस्तानी मीडिया में भी आलोचना हो रही है, कुछ भारतीय क्रिकेटरों ने भी इस पर आपत्ति जताई है.

भारतीय टीम के जाने-माने स्पिनर हरभजन सिंह ने समाचार एजेंसी पीटीआई के साथ बातचीत में कहा, "अगर भारतीय बड़े दिलवाले नहीं होते, वे इतनी प्रगति नहीं कर पाते. मेरा मानना है कि ऐसे बयान की कोई ज़रूरत नहीं थी."

हाल ही संपन्न हुए विश्व कप के सेमी फ़ाइनल में भारत और पाकिस्तान के बीच मुक़ाबला हुआ था और भारत की टीम ये मैच जीत गई थी. बाद में भारत ने फ़ाइनल में श्रीलंका को हराकर ख़िताब भी जीता.

युवराज सिंह की प्रतिक्रिया

अफ़रीदी के इस बयान पर युवराज सिंह ने भी प्रतिक्रिया दी है. टाइम्स ऑफ़ इंडिया अख़बार के साथ बातचीत में युवराज ने हल्के-फ़ुल्के अंदाज़ में कहा, "पाकिस्तानियों का दिल वाकई बहुत बड़ा है. जो इससे ही पता चलता है कि उन्होंने भारत के ख़िलाफ़ मैच में उदारता पूर्वक कई कैच छोड़े. अगर पाकिस्तान का दिल बड़ा नहीं होता तो भारत फ़ाइनल में नहीं पहुँच पाता."

पाकिस्तान ने भारत के ख़िलाफ़ सेमी फ़ाइनल मैच में सचिन तेंदुलकर के चार कैच छोड़े थे. बाद में सचिन ने उस मैच में सर्वाधिक 85 रन बनाए और भारत को जीत मिली. सचिन मैन ऑफ़ द मैच भी चुने गए.

हालाँकि बाद में शाहिद अफ़रीदी ने ये कहा था कि उनके बयान को तोड़-मरोड़कर पेश किया गया है. शाहिद अफ़रीदी के बयान पर भारत में कड़ी प्रतिक्रिया हुई थी.

क्योंकि मोहाली मैच के बाद दोनों देशों के रिश्ते बेहतर होने की उम्मीद जताई जा रही थी. मैच के दौरान भारतीय प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और पाकिस्तानी प्रधानमंत्री यूसुफ़ रज़ा गीलानी भी मौजूद थे और दोनों नेताओं ने बेहतर रिश्तों की बात भी की थी.

वर्ष 2008 में मुंबई में हुए हमलों के बाद से दोनों देशों ने कोई भी आपसी सिरीज़ नहीं खेली है.

संबंधित समाचार