भज्जी- रोहित ने मुंबई को जीत दिलाई

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption रोहित शर्मा ने शानदार 87 रन बनाए

मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में हुए आईपीएल मैच में मुंबई इंडियंस ने चेन्नई सुपर किंग्स को आठ रनों से मात दी है.

मुंबई ने जीत के लिए 165 रनों का लक्ष्य रखा था लेकिन चेन्नई की टीम नौ विकेट के नुकसान पर 156 रन ही बना पाई.

मुंबई इंडियंस की ओर से हरभजन सिंह ने पांच विकेट चटकाए और मैन ऑफ़ द मैच बने. रोहित शर्मा ने 87 रनों की शानदार पारी खेली. चेन्नई के लिए बद्रीनाथ ने भी 71 रनों की नाबाद पारी खेली पर वे जीत दिलाने में नाकाम रहे.

चेन्नई सुपर किंग्स ने टॉस जीता और पहले फ़ील्डिंग करने का फ़ैसला किया.मुंबई इंडियंस को शुरुआत में ही ज़बरदस्त झटके लगे जब सलामी बल्लेबाज़ राजागोपाल सतीश बिना रन बनाए और कप्तान सचिन तेंदुलकर केवल पाँच रन बनाकर सस्ते में आउट हो गए.

ऐसे में एक बार फिर अंबाटी रायडू और रोहित शर्मा ने अच्छे खेल का प्रदर्शन किया. रायडू 12वें ओवर में रंदीव की गेंद पर 27 रन बनाकर आउट हुए.

रोहित शर्मा ने तो मैदान पर चौकों और छक्कों की बरसात कर दी. दूसरे छोर पर उनका साथ निभाया एंड्रयू साइमंड्स ने.

रोहित ने आठ चौकों और पाँच छक्कों की मदद से शानदार 87 रन बनाए. आख़िरी ओवर में बॉलिंजर की गेंद पर आउट होने से पहले वे अपनी टीम को 161 के स्कोर तक ले गए थे. साइमंड्स 31 रन बनाकर नाबाद रहे.

मुंबई इंडियस की टीम ने 20 ओवरों में चार विकेट के नुकसान पर 164 रन बनाए.चेन्नई की ओर से डग बोलिंजर ने तेंदुलकर और रोहित शर्मा के रूप में दो विकेट लिए.

चेन्नई की पारी

इमेज कॉपीरइट ap
Image caption भज्जी ने मुंबई इंडियंस के लिए पांच विकेट लिए

मुंबई की तरह चेन्नई को भी अपनी पारी में शुरुआती झटकों का सामना करना पड़ा. माइकल हस्सी के साथ आए सलामी बल्लेबाज़ मुरली विजय 12 रन बनाकर चलते बने.सुरेश रैना भी पांच रन बनाकर जल्द ही उनके पीछे-पीछे पवेलियन लौट गए. उन्हें हरभजन सिंह ने आउट किया.

लेकिन माइकल हस्सी और बद्रीनाथ ने मिलकर अच्छी पारी खेली और अपनी टीम को 100 रन के करीब ले गए. जब हसी अपने अर्धशतक की ओर बढ़ रहे थे तो मलिंगा की गेंद पर 41 के स्कोर पर आउट हो गए.

कप्तान धोनी कुछ ख़ास नही कर सके और केवल तीन रन ही बना पाए. लेकिन बद्रीनाथ का आक्रामक रुख़ जारी रहा.

बद्री एक छोर पर रन जोड़ते रहे लेकिन हरभजन सिंह दूसरे छोर के बल्लेबाज़ों को पवेलियन रवाना करते रहे.

भज्जी ग़ज़ब फ़ॉर्म में थे. 16वें ओवर में उन्होंने अनिरुध को आउट किया तो 18वें ओवर में उन्होंने तीन और विकेट चटकाए.

किसी जूझारू खिलाड़ी की तरह बद्रीनाथ अंत तक मैदान पर डटे रहे और तमाम मुश्किलों के बावजूद अपने बलबूते पर चेन्नई को जीत के काफ़ी नज़दीक ले गए. लेकिन आख़िर में उन्हें स्ट्राइक कम मिली और चेन्नई की टीम आठ रन से चूक गई.

बद्रीनाथ 71 रन बनाकर अंत तक आउट नहीं हुए. चेन्नई ने नौ विकेट के नुकसान पर 156 रन बनाए जबकि उसे जीत के लिए 165 रन चाहिए थे.

संबंधित समाचार