मुंबई इंडियंस की पुणे पर जीत

  • 5 मई 2011
मुंबई इंडियंस इमेज कॉपीरइट AFP

पुणे वॉरियर्स को 21 रनों से हराकर मुंबई इंडियंस की टीम ने आईपीएल में एक बार फिर शीर्ष स्थान हासिल कर लिया है.

मुंबई ने पहले बल्लेबाज़ी करते हुए निर्धारित 20 ओवरों में सात विकेट पर 160 रन बनाए थे, लेकिन जवाब में पुणे की टीम सात विकेट पर 139 रन ही बना सकी.

इस जीत के बाद 14 अंकों के साथ मुंबई इंडियंस की टीम अंक तालिका में शीर्ष पर पहुँच गई है. पिछले साल की विजेता चेन्नई सुपर किंग्स और कोलकाता नाइट राइडर्स के 12-12 अंक हैं.

पुणे की टीम की ये लगातार सातवीं हार है. शुरू के दो मैच जीतने के बाद पुणे की टीम कोई मैच नहीं जीत पाई है.

नवी मुंबई के डीवाई पाटिल स्टेडियम में हुए इस मैच में पुणे वॉरियर्स के कप्तान युवराज सिंह ने टॉस जीतकर पहले फ़ील्डिंग करने का फ़ैसला किया.

पुणे की टीम ने इस मैच में सौरभ गांगुली को नहीं उतारा. मुंबई की पारी की शुरुआत अच्छी नहीं रही.

प्रदर्शन

लेकिन सचिन तेंदुलकर के 24 और अंबाटी रायडू के 27 रनों के बाद टी सुमन ने तेज़ी से रन बटोरे और केरॉन पोलार्ड ने तो 28 रनों की धमाकेदार पारी खेलकर स्कोर को 160 तक ले जाने में अहम भूमिका निभाई.

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption राहुल शर्मा को मैन ऑफ़ द मैच चुना गया

टी सुमन ने 36 रनों की पारी खेली, जो मुंबई इंडियंस की ओर से सर्वाधिक निजी स्कोर था.

पारी के 19वें ओवर में पोलार्ड और हरभजन ने 27 रन जोड़े. ये ओवर थॉमस ने फेंका. इन सबके बीच पुणे की ओर से राहुल शर्मा ने चार ओवर में सिर्फ़ सात रन देकर दो विकेट लिए.

पुणे की पारी में लगातार विकेट गिरते रहे. जेसी राइडर के शून्य और ग्रैम स्मिथ के सिर्फ़ छह रन पर आउट हो जाने के बावजूद मनीष पांडे ने बेहतरीन पारी खेली, लेकिन लसिथ मलिंगा के नेतृत्व में मुंबई की गेंदबाज़ी काफ़ी किफ़ायती रही और आवश्यक रन गति बढ़ती रही.

बीच में युवराज ने 20 रनों की पारी खेली तो रॉबिन उथप्पा 34 रन बनाकर नाबाद रहे. लेकिन पुणे को जीत नहीं मिल पाई. मलिंगा ने बेहतरीन गेंदबाज़ी की और तीन विकेट लिए.

संबंधित समाचार