निगाहें भारत-पाकिस्तान मैच पर

  • 10 मई 2011
Image caption भारतीय हॉकी टीम

अज़लान शाह हॉकी में भारत ने एक और शानदार मैच खेलते हुए मलेशिया को 5-2 से हराकर न सिर्फ़ एशियाई खेलों में हुई हार का बदला लिया बल्कि अंक तालिका में भी वह तीसरे स्थान पर पहुँच गया है.

मेज़बान टीम यह मैच पहले 22 मिनटों में ही हार गई. भारत ने इस दौरान तीन गोल किए और मध्यांतर होते-होते चौथा गोल भी दाग दिया.

अर्जुन हलप्पा ने कप्तान का खेल दिखाते हुए पहला गोल सेट किया और उसे फ़िनिशिंग टच दिया रोशन मिंज़ ने.

बाएं फ़्लैंक से विकास पिल्लै ने हलप्पा का ज़ोरदार साथ दिया. रक्षा पंक्ति में महादिक और रूपेंद्रपाल सिंह ने मलेशियाई फ़ॉरवर्ड्स को ज़्यादा छूट नहीं लेने दी.

भारत के अब चार मैचों में सात अंक हो गए हैं और अब वह ग्रेट ब्रिटेन और ऑस्ट्रेलिया के बाद तीसरे स्थान पर है.

इतने बड़े अंतर से जीतने के बावजूद कप्तान हलप्पा टीम के प्रदर्शन से संतुष्ट नहीं थे. उनका कहना था कि भारतीय टीम दूसरे हाफ़ के पहले 15 मिनट में अच्छा नहीं खेली. अभी उन्हें कई क्षेत्रों में और मेहनत करनी है.

प्रदर्शन

इससे पहले भारत ने ब्रिटेन को 3-1 से हरा कर बड़ा उलटफेर किया था. भारत की ओर से तीनों गोल रूपेंद्रपाल सिंह ने ड्रैग फ़्लिक से किए थे.

इसके बाद भारत ने विश्व चैंपियन ऑस्ट्रेलिया को 1-1 पर रोक कर एक और अप्रत्याशित परिणाम दिया.

कप्तान हलप्पा ने मैच के बाद कहा कि उनकी टीम के लिए पूरे टूर्नामेंट के यह सबसे मुश्किल 70 मिनट थे.

उन्होंने ख़ास तौर से गोलकीपर एड्रियन डिसूज़ा की तारीफ़ की और कहा कि उनको अब विश्व स्तर का गोलकीपर कहा जा सकता है. वैसे भारत अपना पहला मैच दक्षिण कोरिया से हार गया था.

भारत का अगला मैच पुराने प्रतिद्वंदी पाकिस्तान से है. भारत पाकिस्तान के ख़िलाफ़ पिछले चारों मुक़ाबले जीत चुका है.

पाकिस्तान के कप्तान मोहम्मद इमरान का कहना है कि वह भारत के ख़िलाफ़ लगातार पाँचवाँ मैच नहीं हारना चाहेंगे.

उनके अनुसार ड्रैग फ़्लिकर संदीप सिंह की अनुपस्थिति से इस बार ज़रूर फ़र्क पड़ेगा. पिछले कई मैचों में संदीप सिंह ने ही भारत को शुरुआती बढ़त दिलाई है.

शार्ट कॉर्नर विशेषज्ञ सुहेल अब्बास पाकिस्तान की तरफ़ से ज़रूर खेलेंगे.वह ख़ासे अनुभवी हैं और भारत पर भारी पड़ेंगे.

पाकिस्तानी कप्तान ने यह माना कि भारतीय टीम अच्छा खेल रही है और रूपेंद्रपाल सिंह बहुत अच्छी फॉर्म में हैं.