चेन्नई सुपर किंग्स आईपीएल फ़ाइनल में

चेन्नई सुपर किंग्स इमेज कॉपीरइट AFP

मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में खेले गए आईपीएल प्ले ऑफ़ के पहले मुक़ाबले में चेन्नई सुपर किंग्स ने बंगलौर रॉयल चैलेंजर्स को हराकर फ़ाइनल में प्रवेश कर लिया है.

बंगलौर की टीम को फ़ाइनल में पहुँचने के लिए अब दूसरे प्ले ऑफ़ मुक़ाबले की विजेता टीम के साथ खेलना होगा.

दर्शकों से खचाखच भरे स्टेडियम में बंगलौर की टीम ने पहले बल्लेबाजी करते हुए निर्धारित 20 ओवरों में चार विकेट के नुकसान पर 175 रन बनाए.

जवाब में चेन्नई सुपर किंग्स टीम को शुरूआती झटका लगा जब माइक हसी बिना खाता खोले ही पवेलियन लौट गए.

हसी के स्थान पर खेलने आए सुरेश रैना ने क्रीज़ पर बद्रीनाथ का जम कर साथ दिया और दोनों ने चेन्नई की पारी को संभाला.

पांच चौकों की बदौलत 34 रन बनाने के बाद बद्रीनाथ मिथुन की गेंद पर आउट हुए.

इसके बाद क्रीज़ पर पहुंचे चेन्नई टीम के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी और ताबड़तोड़ बल्लेबाज़ी करते हुए धोनी ने 29 रनों का योगदान दिया और टीम को मैच में वापस ला खड़ा किया.

बंगलौर के गेंदबाज़ ज़हीर खा़न ने धोनी का विकेट लिया. धोनी के बाद एल्बी मोर्केल क्रीज़ पर आए और सुरेश रैना का बखूबी साथ दिया.

दोनों बल्लेबाजों ने आखि़री तीन ओवरों में 53 रन बना कर टीम को 176 के लक्ष्य के पार करा दिया.

सुरेश रैना 73 रनों की शानदार पारी खेल कर नाबाद रहे जबकि मोर्केल ने सिर्फ़ 10 गेंदों पर 28 रन बनाए और टीम को छह विकेट से जीत दिलाई.

बंगलौर की पारी

इससे पहले चेन्नई सुपर किंग्स के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने टॉस जीत कर पहले गेंदबाज़ी करने का फैसला किया था.

इमेज कॉपीरइट Getty
Image caption वेटोरी की टीम के पास फ़ाइनल में पहुँचने के एक और मौका है.

बंगलौर टीम की शुरुआत अच्छी नहीं रही और प्रतियोगिता में अब तक बेहतरीन प्रदर्शन करने वाले सलामी बल्लेबाज़ क्रिस गेल सिर्फ आठ रनों पर ही आउट हो गए.

लेकिन गेल के साथ पारी की शुरुआत करने आए अगरवाल ने आक्रामक बल्लेबाजी़ करते हुए 33 गेंदों पर 34 रन बनाए.

रॉयल चैलेंजर्स की तरफ से एक बार फिर मध्यक्रम की बागडोर अपने हाथ में ली विराट कोहली ने.

विराट कोहली ने मात्र 44 गेंदों पर नाबाद 70 रन बनाए और पारी को संभाला.

हालांकि दक्षिण अफ़्रीकी बल्लेबाज़ डी विलियर्स ने सिर्फ़ 11 रनों का योगदान कर टीम को निराश किया लेकिन कोहली और पोमेरबैश की साझेदारी की बदौलत बंगलौर की टीम ने 175 रनों का स्कोर खड़ा किया.

चेन्नई की टीम के किसी भी गेंदबाज़ को ज्यादा सफलता नहीं मिली और स्पिनर अश्विन ने भी निराश किया.

अश्विन, बोलिंगर डैरेन ब्रावो और जकाती को एक-एक विकेट मिल सके जबकि मोर्केल ने अपने चार ओवर में 40 रन दिए और महंगे साबित हुए.

ख़िताबी भिडंत

चेन्नई सुपर किंग्स ने अब फ़ाइनल में जगा बना ली है.

जबकि बंगलौर रॉयल चैलेंजर्स को अब मुंबई इंडियंस और कोलकाता नाईट राईडर्स के बीच होने वाले मैच की विजेता टीम से भिड़ना होगा.

उस मैच की विजेता टीम चेन्नई के खिलाफ़ फ़ाइनल में जगह बना सकेगी.

संबंधित समाचार