चेन्नई और बंगलौर होंगे आमने-सामने

  • 23 मई 2011
धोनी और गेल इमेज कॉपीरइट Getty
Image caption चेन्नई जहां धोनी की कप्तानी और प्रदर्शन पर निर्भर है तो बंगलौर को क्रिस गेल से उम्मीदें हैं

इंडियन प्रीमियर लीग में ख़िताबी जंग अब अंतिम दौर में पहुँच चुका है जहाँ शीर्ष की दो टीमों चेन्नई सुपर किंग्स और रॉयल चैलेंजर्स बंगलौर के बीच पहला प्ले ऑफ़ मुक़ाबला मंगलवार को होना है.

और बार की तरह इस बार अंतिम चार टीमों के मुक़ाबले को सेमीफ़ाइनल नहीं कहा गया है क्योंकि शीर्ष दो टीमों के पास फ़ाइनल में पहुँचने के दो मौक़े होंगे.

दरअसल चेन्नई और बंगलौर के मुक़ाबले में जो टीम जीतेगी वो सीधे फ़ाइनल में पहुँच जाएगी. मगर हारने वाली टीम यहाँ बाहर नहीं होगी क्योंकि उसके पास फ़ाइनल में पहुँचने का एक और मौक़ा होगा.

यहाँ हारने वाली टीम को मुंबई इंडियंस और कोलकाता नाइट राइडर्स के मैच के विजेता से भिड़ने का मौक़ा मिलेगा और वहाँ जो टीम जीतेगी वो फ़ाइनल में पहुँचने वाली दूसरी टीम बनेगी.

आईपीएल में ग्रुप स्तर के मुक़ाबले तय करते समय जब अंतिम दिन यानी बीते रविवार के मुक़ाबले तय हुए होंगे तब शायद ही ये सोचा गया होगा कि वही चार टीमें अंतिम चार में पहुँचेंगी और उन टीमों को वही मुक़ाबले प्ले ऑफ़ में खेलने होंगे.

रविवार को पहले मुक़ाबले में बंगलौर और चेन्नई का मैच हुआ था और पहले क्वालिफ़ायर में भी यही दोनों टीमें आमने सामने होंगी.

मनोबल पर असर

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption गंभीर और तेंदुलकर की टीमें रविवार को ही भिड़ी थीं जहाँ मुंबई को जीत मिली

रविवार को चेन्नई पर बंगलौर को मिली आठ विकेट की जीत का उनके मनोबल पर अच्छा असर होगा मगर वो मैच बंगलौर में खेला गया था और अब अगला मैच मुंबई में होना है.

इससे पहले ये दोनों टीमें जब चेन्नई में भिड़ी थीं तब चेन्नई को जीत हासिल हुई थी यानी इन दोनों ही टीमों ने अपने-अपने घरेलू मुक़ाबले जीत लिए थे मगर अब मुक़ाबला तटस्थ मैदान पर है.

चेन्नई काफ़ी हद तक माइक हसी और महेंद्र सिंह धोनी पर निर्भर है तो बंगलौर की टीम को पिछले कुछ मैचों में क्रिस गेल ने अपने दम पर जीत दिलाई है. गेल के अलावा विराट कोहली भी अच्छे फ़ॉर्म में हैं.

गेंदबाज़ी में जहाँ चेन्नई की टीम डग बॉलिंजर और एल्बी मॉर्केल पर निर्भर होगी तो वहीं बंगलौर की टीम ज़हीर ख़ान के अच्छे प्रदर्शन पर उम्मीद लगाए होगी और कप्तान डेनियल विटोरी की घूमती गेंदें मुंबई में क्या कमाल दिखाएँगी ये भी रोचक होगा.

चेन्नई की टीम ने पिछली बार का आईपीएल जीता था जबकि बंगलौर की टीम अच्छा प्रदर्शन करने के बावजूद अब तक एक भी बार ख़िताब नहीं जीत पाई है.

पहले सीज़न में बंगलौर के ख़राब प्रदर्शन के बाद दूसरे सीज़न में टीम फ़ाइनल में डेकन चार्जर्स से हार गई थी. इसके अलावा पिछले साल बंगलौर की टीम को सेमीफ़ाइनल में हार का सामना करना पड़ा था.

संबंधित समाचार