फ़ीफ़ा चुनाव टालने की माँग

फ़ीफ़ा मुख्यालय इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption स्विट्ज़रलैंड के ज़्यूरिख शहर में फ़ीफ़ा का मुख्यालय

इंग्लैंड और स्कॉटलैंड के फ़ुटबॉल संगठनों ने भ्रष्टाचार के आरोपों का सामना करनेवाली फ़ुटबॉल संस्था फ़ीफ़ा से बुधवार को होनेवाले चुनाव को स्थगित करने की माँग की है.

विश्व फ़ुटबॉल की शासकीय संस्था के वर्तमान प्रमुख सेप ब्लैटर क़तर के उम्मीदवार मोहम्मद बिन हम्माम के नाम वापस लेने के बाद इस चुनाव में एकमात्र उम्मीदवार हैं.

75 वर्षीय ब्लैटर चौथी बार फ़ीफ़ा अध्यक्ष बनना चाहते हैं.

फ़ीफ़ा अध्यक्ष के चुनाव को टालने का मुद्दा ऐसे समय उठा है जब 2018 और 2022 विश्व कप फ़ुटबॉल की मेज़बानी हासिल करने की प्रक्रिया को लेकर सवाल उठाए जा रहे हैं.

ऐसे आरोप हैं कि मेज़बानी की दौड़ में वोट हासिल करने के लिए कैरीबियाई फ़ुटबॉल संघ के सदस्यों को वित्तीय प्रलोभन दिए गए.

आरोपों के बाद फ़ीफ़ा की आचार समिति ने चुनाव में उम्मीदवार मोहम्मद बिन हम्माम समेत दो बड़े अधिकारियों को निलंबित कर दिया.

बिन हम्माम के एक आरोप के बाद सेप ब्लैटर के बारे में भी जाँच की गई हालाँकि आचार समिति ने वर्तमान अध्यक्ष को बरी कर दिया.

माँग

इंग्लिश फ़ुटबॉल एसोसिएशन ने कहा है कि भ्रष्टाचार के आरोपों के कारण ये ज़रूरी है कि चुनाव में किसी वैकल्पिक उम्मीदवार को खड़ा किया जाए.

स्कॉटिश फ़ुटबॉल एसोसिएशन ने भी कहा है कि विचार-विमर्श के लिए चुनाव का समय फिर से तय किया जाना चाहिए.

संगठन ने ये माँग ऐसे समय की है जब स्विट्ज़रलैंड के ज़्यूरिख शहर में फ़ीफ़ा की वार्षिक बैठक हो रही है.

उसने दूसरे देशों के संगठनों से भी आग्रह किया है कि वे फ़ीफ़ा के कामकाज की समीक्षा की स्वतंत्र समीक्षा की माँग करें.

वैसे सेप ब्लैटर ने भ्रष्टाचार के आरोपों के बाद दो वरिष्ठ फ़ीफ़ा अधिकारियों के निलंबन के बावजूद इस बात से इनकार किया है कि फ़ीफ़ा किसी तरह के संकट से गुज़र रहा है.

हालाँकि एशियाई फ़ुटबॉल संघ के प्रमुख मोहम्मद बिन हम्माम और फ़ीफ़ा के उपाध्यक्ष जैक वार्नर ने आरोपों को ग़लत बताया है.

इस बीच फ़ुटबॉल की कुछ बड़ी प्रायोजक कंपनियों – कोका कोला, ऐडिडास और एमिरेट्स एयरलाइंस ने भ्रष्टाचार के आरोपों के कारण खेल की छवि पर असर पड़़ने की चिंता प्रकट की है.

संबंधित समाचार