विंबलडन टेनिस आज से शुरू

Image caption विंबलडन में टेनिस का रोमांच

साल की तीसरी टेनिस ग्रैंड स्लैम प्रतियोगिता ब्रिटेन के विंबलडन में सोमवार से शुरू हो रही है.

बीस जून से 3 जुलाई के बीच होने वाली ये प्रतियोगिता इस साल कुछ ख़ास है क्योंकि विंबलडन का ये 125वां संस्करण है.

पिछले साल के विजेता रफ़ाएल नडाल प्रतियोगिता का पहला मैच अमरीका के माईकल रसेल के ख़िलाफ़ खेलेंगे.

जबकि महिलाओं में पहला मुक़ाबला छठी वरीयता प्राप्त इटली की फ़्रांसेस्का शियावोन और ऑस्ट्रेलिया की जेलेना डोकिच के बीच खेला जाएगा.

तीसरा मुक़ाबला विश्व वरीयता में चौथे नंबर के खिलाड़ी ब्रिटेन के एंडी मरे और स्पेन के डैनिएल जिमेनो ट्रेवर के बीच खेला जाएगा.

प्रमुख दावेदार

पिछले साल पुरुष एकल में स्पेन के रफ़ाएल नडाल जीते थे और महिला एकल में अमरीका की सेरीना विलियम्स की जीत हुई थी.

नडाल ने कुछ दिन पहले ही फ़्रेंच ओपन जीता है. इससे पहले भी वो दो बार विंबलडन जीत चुके हैं.

दुनिया के नंबर एकखिलाड़ी नडाल को विंबलडन में भी टॉप सीडिंग दी गई है.

Image caption रफ़ाएल नडाल ख़िताब बचाने के लिए उतरेंगे

टेनिस प्रेमियों की निगाहें स्वीडन के रॉजर फ़ेडरर पर भी टिकी होंगी.

दुनिया के तीसरे नंबर के खिलाड़ी फ़ेडरर ने छह बार विंबलडन ख़िताब पर अपना कब्ज़ा जमाया है.

पुरुष एकल में इन दोनों के अलावा इस सीजन में लगातार अच्छा प्रदर्शन करने वाले सर्बिया के नोवाक योकोविच और ब्रिटेन के एंडी मरे के खेल पर भी सबकी नज़रें रहेंगी.

महिला वर्ग में विंबलडन की पहली सीडिंग डेनमार्क की कैरोलीन वोज्नियाकी को दी गई है. वोज्नियाकी विश्व वरीयता में भी पहले नंबर की खिलाड़ी हैं.

लेकिन फ़्रेंच ओपन जीतकर तहलका मचानेवाली चीन की ली ना इस बार विंबलडन में खिताब की तगड़ी दावेदार मानी जा रही हैं.

महिला मुक़ाबले में बेल्जियम की किम क्लाइस्टर्स, अमरीका की वीनस विलियम्स और सेरीना विलियम्स और रूस की मारिया शारापोवा भी कड़ा मुक़ाबला पेश कर सकती हैं.

पिछले साल की विंबलडन विजेता सेरीना विलियम्स पिछले कुछ महीनों से अस्वस्थ थीं और टेनिस नहीं खेल रही थीं. लेकिन अब वो बिल्कुल फ़िट हैं और विंबलडन में वापसी कर रही हैं.

भारत की चुनौती

विंबलडन में भारत की संभावनाएं भी काफ़ी अच्छी हैं. पुरुष युगल में महेश भूपति और लिएंडर पेस ख़िताब के अच्छे दावेदार माने जा रहे हैं.

इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption पेस-भूपति की जोड़ी से उम्मीद

लिएंडर पेस और कारा ब्लैक की जोड़ी ने 2010 में मिश्रित युगल का ख़िताब जीता था.

वहीं महिला डबल्स में सानिया मिर्ज़ा और रूस की एलीना की जोड़ी भी काफ़ी मज़बूत दावेदार मानी जा रही है. ये जोड़ी फ़्रेंच ओपन के फ़ाइनल में पहुंची थी.

एकल मुक़ाबले में इस साल वरीयता क्रम में लंबी छलांग लगाने वाले सोमदेव देवबर्मन और सानिया मिर्ज़ा से भी अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद है.

सोमदेव साल की शुरुआत में वरीयता क्रम में 108वें नंबर पर थे लेकिन अब उनकी रैंकिंग में काफ़ी सुधार हो गया है और वो 68वें नंबर पर पहुंच गए हैं. वहीं अपने फ़ॉर्म से लगातार जूझ रही सानिया मिर्ज़ा ने भी रैंकिंग में काफ़ी सुधार किया है.

साल की शुरुआत में वो 166वें नंबर पर थीं लेकिन अब वो 60वें नंबर पर पहुंच गई हैं.

विंबलडन प्रतियोगिता 1877 में शुरू हुई थी और केवल पहले और दूसरे विश्वयुद्ध के दौरान ही इसमें कुछ साल के लिए रुकावट पैदा हुई थी.

संबंधित समाचार