भारत 201 रनों पर धराशायी

  • 29 जून 2011
लक्षमण इमेज कॉपीरइट Getty
Image caption लक्षमण ने 12 चौकों की मदद से 85 रन बनाए.

बारबाडोस में भारत और वेस्ट इंडीज़ के बीच खेले जा रहे दूसरे टेस्ट मैच का पहला दिन दोनों टीमों के बल्लेबाज़ों के लिए बुरा साबित हुआ.

मंगलवार को खेले गए मैच में दोनों टीमों को मिलाकर 13 विकेट गिरे.

वेस्टइंडीज़ के कप्तान डेरेन सैमी ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाज़ी करने का फ़ैसला किया था. दोपहर बाद चाय के समय तक भारत की टीम 201 रनों के आंकड़े पर सिमट गई थी.

उसके बाद वेस्ट इंडीज़ के बल्लेबाज़ मैदान में उतरे लेकिन भारतीय गेंदबाज़ों ने शुरूआती दौर में ही प्रतिद्वंदी टीम के दोनों सलामी बल्लेबाज़ों को लपक लिया.

बैरथ तीन रनों के निजी स्कोर पर कोहली को कैच दे बैठे, सिमंस का कैच कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने पकड़ा.

मंगलवार के खेल में भारत ने सिर्फ 38 रनों के स्कोर पर अपने पहले चार विकेट गंवा दिए थे और ऐसा लग रहा था कि बल्लेबाज़ों के लिए उछाल वाली तेज़ पिच पर खेलना मुशिकल हो रहा है.

दूसरे टेस्ट का स्कोर देखिए

वीवीएस लक्ष्मण

बाद में लक्ष्मण और रैना के बीच की 117 रनों की साझेदारी ने भारत के स्कोर में सम्मानजनक बढ़ोतरी की. वरना पहले दिन के खेल में बल्लेबाज़ों का ही पलड़ा भारी लग रहा था.

लक्ष्मण ने 12 चौकों की मदद से 85 रनों का निजी स्कोर खड़ा किया. रैना का योगदान 53 रनों का था.

वेस्ट इंडीज़ की तरफ़ से बिशू और रवि रामपॉल ने तीन-तीन विकेट झटके जबकि राहुल द्रविड़ का विकेट सैमी को मिला.

द्रविड़ ने पिछले टेस्ट की दूसरी पारी में शतक मारा था. पहला टेस्ट भारत के पक्ष में गया था.

आज तक भारत की टीम बारबाडोस में एक भी टेस्ट जीत नहीं पाई है. लेकिन अगर महेंद्र सिंह धोनी की अगुआई वाली टीम को सिरीज़ जीतना है तो उसके लिए इस टेस्ट को जीतना ज़रूरी है.

संबंधित समाचार