भारत 451 रनों से पीछे, सहवाग आउट

  • 13 अगस्त 2011
कुक ने 33 चौकों की मदद से शानदार 294 रन बनाए इमेज कॉपीरइट BBC World Service

एजबेस्टन टेस्ट के तीसरे दिन का खेल समाप्त होने तक भारत की पहली पारी में बनाए 224 रनों के जवाब में इंग्लैंड ने सात विकेट के नुकसान पर 710 रनों पर पारी घोषित कर दी.

दूसरी पारी में भी असहाय दिख रही भारतीय टीम नें सस्ते में सहवाग का विकेट गंवा दिया. भारत ने तीसरे दिन के अंत तक एक विकेट पर 35 रन बनाए थे और इंग्लैंड से 451 रन पीछे था.

दो दिनों का खेल अभी बाक़ी है और यदि उसे ज़रूरत पड़ी तो इंग्लैड की अभी पूरी दूसरी पारी बाक़ी है.

कुक के 294, इंग्लैंड का तीसरे सबसे बड़ा स्कोर

इंग्लैंड ने तीसरे दिन का खेल तीन विकेट पर 456 से शुरु किया जब एलेस्टर कुक 182 रन बनाकर क्रीज़ पर थे. उनका साथ दे रहे थे मॉर्गन जिन्होंने 44 रन बनाए थे.

इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption कुक ने इंग्लैंड को विशाल 710 स्कोर खड़ा करने में मुख्य भूमिका निभाई

इस जोड़ी ने शानदार प्रदर्शन करते हुए चौथे विकेट के लिए 222 रन बनाए. मॉर्गन ने 11 चौकों की मदद से 104 रन बनाए. रैना की गेंद पर सहवाग ने उनका कैच लपका. उस समय इंग्लैंड का स्कोर था 596 रन और स्पष्ट था की इंग्लैंड विशालकाय स्कोर कायम करने के बाद ही पारी घोषित करेगा.

इसके बाद बोपारा को मिश्र ने एलबीडब्ल्यू आउट किया जब उनका स्कोर सात रन था. प्रायर को मिश्र की ही गेंद पर सचिन ने कैच किया जब उनका स्कोर पाँच रन था.

इंग्लैड का पाँचवां विकेट 605 और छठा विकेट 613 के स्कोर पर गिरा.

लेकिन कुक लगातार जमें रहे और उनका साथ निभाया ब्रेसनेन ने जो 53 रन बनाकर नाबाद रहे.

जब इंग्लैंड की टीम का स्कोर 710 रन था और कुक ने 33 चौकों की मदद से 294 रन बनाए थे तब इशांत शर्मा की गेंद पर रैना ने उनका कैच लपका. इसके बाद इंग्लैंड ने पारी घोषित कर दी.

ये इंग्लैंड के टेस्ट इतिहास में तीसरा सबसे बड़ा स्कोर है और भारत के ख़िलाफ़ इंग्लैंड की टीम का ये सबसे बड़ा स्कोर है.

भारत के लिए प्रवीण कुमार ने 98 रन देकर दो विकेट, श्रीसंत ने 158 रन देकर कोई विकेट नहीं, इशांत ने 159 रन देकर एक विकेट, मिश्र ने 150 रन देकर तीन विकेट और रैना ने 83 देकर एक विकेट लिया.

सहवाग दूसरी गेंद पर आउट

भारत की ओर से दूसरी पारी की शुरुआत गंभीर और सहवाग ने की थी. लेकिन पहले ही ओवर की दूसरी गेंद पर सहवाग एंडरसन की गेंद पर स्ट्रॉस को कैच थमा बैठे. वे अपनी खाता भी नहीं खोल पाए थे.

इस तरह भारत का स्कोर हुआ एक विकेट पर तीन रन. राहुल द्रविड़ ने इसके बाद गंभीर का साथ देना शुरु किया. राहुल 18 रन बनाकर और गंभीर 14 रन बनाकर क्रीज़ पर हैं.

लेकिन भारत 451 रन से पिछड़ा हुआ है और दो दिन का खेल अभी बाक़ी है. यदि वह नौबत आती है तो इंग्लैंड की दूसरी पारी अभी बाक़ी है.

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार