चौथे टेस्ट में भी भारत की हालत ख़राब

एंडरसन
Image caption सहवाग की विकेट लेने के बाद एंडरसन ख़ुशी मनाते हए.

भारत और इंग्लैंड के बीच ओवल में खेले जा रहे चौथे टेस्ट मैच में भी भारत की हालत बहुत ख़राब है और उस पर फ़िलहाल फ़ॉलोऑन का ख़तरा मंडरा रहा है.

ग़ौरतलब है कि इस शृंखला के पहले तीनों टेस्ट भारत बुरी तरह हार चुका है.

केनिंग्टन ओवल में खेले जा रहे चौथे टेस्ट के तीसरे दिन शनिवार को खेल की समाप्ति के बाद भारत ने पांच विकेट खोकर सिर्फ़ 103 रन बनाए थे.

इस तरह इंग्लैंड की पहली पारी के स्कोर 591 रनों के मुक़ाबले भारत अभी भी 388 रनों से पिछड़ा हुआ है.

भारत को फ़ॉलोऑन से बचने के लिए अभी उसे 289 रन और बनाने पड़ेंगे. लेकिन उसकी आधी टीम पैवेलियन लौट चुकी है और निचले क्रम के बल्लेबाज़ों के लिए ये बहुत कठिन लक्ष्य है.

तीसरे दिन के खेल की समाप्ति पर भारत के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी पांच रन बनाकर खेल रहे हैं जबकि उनका साथ दे रहे राहुल द्रविड़ 57 रन बना चुके हैं.

दोहरा शतक

इससे पहले बारिश से बाधित चौथे और आख़िरी टेस्ट के तीसरे दिन इंग्लैंड ने इयान बेल के दोहरे शतक की मदद से छह विकेट पर 591 रन का विशाल स्कोर खड़ा कर लिया था.

भोजनकाल के बाद क़रीब पांच घंटे तक जब खेल शूरू नहीं हो सका तब इंग्लैंड ने पारी समाप्ति की घोषित कर दी.

इमेज कॉपीरइट Getty
Image caption स्वैन ने बेहतरीन गेंदबाज़ी करते हुए तीन विकेट लिए है.

इंग्लैंड के इस विशाल स्कोर में बेल के 235 रन शामिल हैं जो उन्होंने 364 गेंदों का सामना कर 23 चौकों और दो छक्के की मदद से बनाए. बेले के अलावा केविन पीटरसन ने भी 175 रन बनाए.

बेल अपने करियर में पहली बार दोहरा शतक बनाने में सफल हुए हैं.

पिछले तीन टेस्ट मैचों की तरह इस टेस्ट मैच में भी भारत की बल्लेबाज़ी काफ़ी निराशा जनक रही.

गंभीर को चोट लगने के कारण राहुल द्रविड़ और विरेंद्र सहवाग ने भारतीय पारी की शुरूआत की लेकिन भारत ने सिर्फ़ 13 रन के स्कोर पर ही वीरेंद्र सहवाग (08) और वीवीएस लक्ष्मण (02) के विकेट गंवा दिए.

सहवाग एजबस्टन टेस्ट की दोनों पारियों में पहली गेंद पर ही आउट हो गए थे.

सचिन भी कुछ ख़ास नहीं कर सके और वो 23 रन बनाकर आउट हो गए. लगातार ख़राब फ़ॉर्म में चल रहे सुरेश रैना अपना खाता भी नहीं खोल सके और शून्य पर आउट हो गए.

नाइटवॉचमैन की तौर पर मैदान में आए ईशांत शर्मा भी सिर्फ़ एक रन बनाकर पैवेलियन लौट गए.

भारत को टेस्ट रैंकिंग में दूसरा स्थान बरक़रार रखने के लिए यह मैच हर हाल में जीतना या ड्रा कराना होगा.

भारत यदि यह मैच हार जाता है तो वह 117 रेटिंग अंकों के साथ तीसरे स्थान पर खिसक जाएगा जबकि जीत की स्थिति में वह 120 रेटिंग अंकों के साथ दूसरे स्थान पर बरक़रार रहेगा.

संबंधित समाचार