भारत के लिए मिला-जुला दिन

  • 31 अगस्त 2011
सानिया मिर्ज़ा और शहार पीर इमेज कॉपीरइट Reuters

भारत की सानिया मिर्ज़ा साल के आख़िरी ग्रैंड स्लैम यूएस ओपन टेनिस प्रतियोगिता के सिंगल्स मुक़ाबलों से बाहर हो गई हैं.

पहले दौर के मैच में उन्हें इसराइल की शहार पीर ने तीन सेटों के मैच में 6-7, 6-3 और 6-1 से मात दी.

लेकिन डबल्स मुक़ाबले में भारत के लिएंडर पेस और महेश भूपति की जोड़ी दूसरे दौर में पहुँच गई हैं. उन्होंने पहले दौर के मैच में यूक्रेन के एलेक्ज़ेंडर डोल्गोपोलोव और स्पेन के अल्बर्ट रामोस की जोड़ी को 7-6 और 6-4 से हरा दिया.

भारत के रोहन बोपन्ना और पाकिस्तान के एसाम उल हक़ क़ुरैशी ने भी जीत हासिल करके दूसरे दौर में जगह बना ली है.

बोपन्ना और एसाम की जोड़ी ने अमरीका के रॉबी गिनेप्री और राइन विलियम्स की जोड़ी को 6-1, 2-6 और 6-2 से हराया.

मुक़ाबला

सानिया और शहार पीर का मुक़ाबला उतार-चढ़ाव भरा. पहले सेट में दोनों के बीच ज़ोरदार टक्कर हुई. पहले शहार पीर आगे थी, तो बाद में सानिया. फिर मुक़ाबला टाई ब्रेकर तक गया और आख़िरकार सानिया ने पहला सेट जीत लिया.

लेकिन बाद के दोनों सेटों में उन्होंने जैसे हथियार डाल दिए. शहार पीर ने दूसरा सेट 6-3 और फिर तीसरा सेट 6-1 से जीतकर सिंगल्स में सानिया की चुनौती ख़त्म कर दी.

दूसरी ओर डबल्स मुक़ाबले में चौथी वरीयता प्राप्त लिएंडर पेस और महेश भूपति ने आसान जीत दर्ज करके दूसरे दौर में जगह बनाई.

पाँचवीं वरीयता प्राप्त बोपन्ना और क़ुरैशी की जोड़ी को तीन सेटों में जीत मिली. पहला सेट जीतने के बाद ये दोनों दूसरे सेट में हार गए.

लेकिन तीसरे सेट में अच्छी वापसी करते हुए उन्होंने जीत हासिल की और दूसरे दौर में जगह बनाई.

संबंधित समाचार