भारत-पाकिस्तान हॉकी भिड़ंत

  • 9 सितंबर 2011
हॉकी इमेज कॉपीरइट Getty

एशियाई चैंपियंस ट्रॉफी हॉकी टूर्नामेंट के फ़ाइनल में पहुँचने के लिए भारतीय टीम को शुक्रवार को होने वाले मुक़ाबले में पाकिस्तान को हराना होगा.

चीन के ओरडोस शहर में चल रही इस हॉकी प्रतियोगिता में भारत की टीम अभी तक अपराजित रही है.

अभी तक खेले गए चार मैचों में भारतीय टीम ने दो में जीत दर्ज की है जबकि दो मैच बिना किसी नतीजे के रहे हैं.

उधर पाकिस्तान की टीम ने भी प्रतियोगिता में बेहतरीन हॉकी का प्रदर्शन किया है और अंक तालिका में नौ अंकों के साथ सबसे ऊपर विराजमान है.

जापान की टीम सात अंकों के साथ तीसरे और दक्षिण कोरिया छह अंकों के साथ चौथे स्थान पर है.

शुक्रवार को जब ये चारों टीमें मैदान में उतरेंगी तब चारों के पास ही फाइनल में पहुंचने का मौका रहेगा.

भारत और पाकिस्तान के बीच मुकाबला एक तरह से सेमीफाइनल बन गया है जबकि जापान को मलेशिया से और दक्षिण कोरिया को चीन से खेलना है.

कांटे की टक्कर

भारत ने पिछले साल पाकिस्तान को दिल्ली में आयोजित किए गए राष्ट्रमंडल खेलों में बुरी तरह हराया था.

हालांकि इसी साल अजलान शाह कप में भारत पाकिस्तान के हाथों 1-3 से हार भी गया था.

लेकिन इस बारे में कोई दो मत नहीं है कि भारत-पाकिस्तान मुक़ाबला कांटे का ही रहने की उम्मीद है.

इस अहम मैच के पहले भारतीय कोच माइकल नोब्स भी दबाव की बात कह चुके हैं.

माइकल नोब्स ने कहा, "कोच के रूप में पाकिस्तान के खिलाफ यह मेरा पहला मौका है और मेरे लिए यह एक रोमांचक अनुभव होगा. इस मैच को लेकर निश्चित ही भारी दबाव होगा और यह देखना दिलचस्प होगा कि खिलाड़ी इससे कैसे निपटते हैं."

उधर पाकिस्तान के कोच अजमल खा़न ने इस मैच को लेकर लोगों की बढ़ी हुई उम्मीदों से इनकार करते हुए सिर्फ इतना ही कहा, यह मात्र एक मैच है.

संबंधित समाचार