भारत-पाकिस्तान फ़ाइनल में

  • 9 सितंबर 2011
हॉकी मैच इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption एशियन चैम्पियंस ट्रॉफ़ी का ये अहम मैच ड्रॉ रहा

दक्षिण कोरिया में हो रही पहली एशियन चैम्पियंस ट्रॉफ़ी के एक रोमाचंक और महत्वपूर्ण मैच भारत और पाकिस्तान के बीच हुआ. लेकिन मैच 2-2 से ड्रॉ समाप्त हुआ. और दोनों ही टीमें फ़ाइनल में पहुँच गई हैं.

पहले हाफ़ में अच्छा प्रदर्शन के बावजूद भारतीय टीम एक समय 2-0 से पिछड़ गई थी, लेकिन उसने मैच में वापसी करते हुए मैच ड्रॉ करने में सफलता पाई.

पाकिस्तान ने तीन जीत और एक ड्रॉ के साथ 10 अंक हासिल किए, तो भारतीय टीम ने दो जीत और तीन ड्रॉ के साथ नौ अंक हासिल किए. भारत की टीम इस प्रतियोगिता में एक भी मैच नहीं हारी, लेकिन पाकिस्तान की टीम जापान से हार गई थी.

इंतज़ार

मैच की बात करें, तो पाकिस्तान ने 40वें और 42वें मिनट में दो गोल करके 2-0 की बढ़त हासिल कर ली थी. पाकिस्तान की ओर से पहला गोल मोहम्मद वक़ास और दूसरा गोल मोहम्मद इरफ़ान ने किया.

भारत की ओर से रुपिंदर ने जल्द ही एक गोल उतार दिया और फिर 53 मिनट में दानिश मुज्तबा के गोल की मदद से भारत ने स्कोर बराबर कर दिया.

मुज्तबा के गोल को न्यूज़ीलैंड के अंपायर साइमन टेलर ने नहीं माना लेकिन भारतीय खिलाड़ियों की अपील के बाद उन्होंने दक्षिण कोरियाई अंपायर से सलाह के बाद गोल को माना.

अन्य मैचों में मलेशिया ने जापान को 3-2 से हराया, तो चीन और दक्षिण कोरिया का मैच 1-1 से ड्रॉ समाप्त हुआ.

संबंधित समाचार