ड्रग्स सप्लाई के आरोप में मेडिकल टीम बर्ख़ास्त

  • 2 अक्तूबर 2011
ड्रग्स टेस्ट इमेज कॉपीरइट PA
Image caption प्रतिबंधित पदार्थों के सेवन की जांच के लिए पेशाब के सैंपल में पोटाशियम कार्बोनेट मिलाता लैब असिस्टेंट.

श्रीलंका के खेल मंत्री महिंदानंद अलूथगामागे ने कहा है कि उन्होंने अपने विभाग की पूरी मेडिकल टीम को बर्ख़ास्त कर दिया है.

उन्होंने कहा कि वो इस आरोप की जांच कर रहे हैं कि इस दल के लोगों ने ही खिलाड़ियों को प्रतिबंधित ड्रग्स दिए थे.

महिंदानंद अलूथगामागे का कहना था कि खेलों से जुड़ी संस्थाओं और व्यक्तियों से इस संबंध में उन्हें ढ़रो शिकायतें मिली हैं.

बीबीसी संवाददाता सरोज पथीराना का कहना है कि उनमें से जिन्होंने प्रतिबंधित पदार्थों के सेवन की बात क़बूल की है एक है श्रीलंका के क्रिकेटर उपल थरंगा.

उन्हें ड्रग्स के सेवन के चलते विश्व कप में हिस्सा नहीं लेने दिया गया था.

खिलाड़ी

जबकि राष्ट्रीय स्तर के पांच खिलाड़ियों पर प्रतिबंध लगाया गया है. इसमें एक मुक्केबाज़ भी शामिल हैं.

मेडिकल टीम के प्रमुख गीथनजना मेंडिस ने इस मामले में किसी तरह की प्रतिक्रिया देने से मना कर दिया है.

खेल मंत्री ने कहा है कि मेडिकल टीम में तबदीली की सख़्त ज़रूरत है ताकि अच्छे प्रशासक और उस तरह के तकनीकी लोग इसमें शामिल किए जा सकें जो भविष्य में ऐसी घटनाओं को रोक सकें.

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार