'सचिन जैसा बल्लेबाज़ होना टीम के लिए अच्छा'

  • 2 नवंबर 2011
धोनी और बिंद्रा इमेज कॉपीरइट Getty
Image caption धोनी और बिंद्रा को थल सेनाध्यक्ष ने इन मानद पदों से नवाज़ा.

भारत क्रिकेट टीम के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने कहा है कि सचिन तेंदुलकर जैसे 'प्रतिभाशाली' व्यक्ति का टीम में मौजूद रहना हमेशा अच्छा रहता है.

हालांकि महेंद्र सिंह धोनी ने सचिन तेंदुलकर की कप्तानी पर कोई टिपण्णी नहीं की.

उन्होंने कहा, "मैंने कभीं उनकी कप्तानी में क्रिकेट नहीं खेला. लेकिन वो बहुत प्रतिभाशाली हैं और उनके पास हमेशा ही अच्छे विचार और सुझाव रहते हैं. क्योंकि वो एक बेहतरीन बल्लेबाज़ हैं इसलिए मैदान में उनका मौजूद रहना हमेशा बेहतर रहता है."

सोमवार को राजधानी दिल्ली में आयोजित एक समारोह में भारतीय क्रिकेट कप्तान धोनी और निशानेबाज़ अभिनव बिंद्रा को लेफ्टिनेंट कर्नल के मानद पद से नवाज़ा गया.

समारोह के बाद पत्रकारों ने महेंद्र सिंह धोनी से पूर्व बीसीसीआई सचिव जे वाई लेले की किताब के उस अंश पर टिपण्णी मांगी थी जिसमे लेले ने लिखा था कि सचिन एक सफल कप्तान इसलिए नहीं बन सके क्योंकि वे बहुत ज़्यादा लोगों की सलाह मानते थे.

'बुरा करोगे तो बुरा होगा'

इस बीच भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी पाकिस्तानी क्रिकेटरों सलमान बट और मोहम्मद आसिफ के खिलाफ आए फैसले से हैरान नहीं हैं.

लंदन की एक अदालत ने पाकिस्तान क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान सलमान बट और तेज़ गेंदबाज़ मोहम्मद आसिफ़ को स्पॉट फ़िक्सिंग के मामले में दोषी ठहराया है.

जबकि मोहम्मद आमिर पहले ही अपना अपराध स्वीकार कर चुके हैं.

महेंद्र सिंह धोनी ने इस फ़ैसले पर कहा कि अगर आप बुरा करते हैं तो बुरा होना तय है. भारत की राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल ने महेंद्र सिंह धोनी और अभिनव बिंद्रा जैसे खिलाडियों को मानद उपाधियाँ मिलने पर अपनी मंज़ूरी दी थी जिसके बाद सोमवार को थल सेनाध्यक्ष वीके सिंह ने उन्हें इन पदों से नवाज़ा.

धोनी और बिंद्रा के अलावा सैनिकों को फि़ट रहने की ट्रेनिंग देने वाले डॉ. दीपक राव को भी टेरिटोरियल आर्मी में ऑनरेरी मेजर रैंक से नवाजा़ गया है.

सेना के प्रवक्ता ने बताया कि खेल जगत में धोनी और बिंद्रा की उल्लेखनीय भागीदारी तथा विभिन्न मौकों पर सेना के प्रति उनकी प्रतिबद्धता को देखते हुए दोनों खिलाड़ियों को यह सम्मान दिया गया है.

संबंधित समाचार