'फ़ैसले से पाकिस्तान की बदनामी हुई है'

  • 1 नवंबर 2011
आमिर और सलमान इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption लंदन की अदालत ने दोनों खिलाड़ियों को स्पॉट फ़िक्सिंग के मामले में दोषी क़रार दिया है.

पाकिस्तान के पूर्व क्रिकेट खिलाड़ियों ने स्पॉट फ़िक्सिंग के मामले में लंदन की एक अदालत के फ़ैसले पर अपनी प्रक्रिया व्यक्त की है और कहा है कि इसके पाकिस्तान की बदनामी हुई है.

पाकिस्तान के पूर्व कप्तान और बलेबाज़ आमिर सुहैल ने बीबीसी से बातचीत कहा, “यह फ़ैसला पाकिस्तानी क्रिकेट के लिए बड़ा अफ़सोसनाक है और तीनों खिलाड़ी बहुत ज़बरदस्त खेलते थे.”

उन्होंने आगे कहा कि पाकिस्तानी जनता को इन तीनों खिलाड़ियों से बड़ी उम्मीदें थी लेकिन इस फ़ैसले के बाद उनका करियर तबाह हो गया है.

आमिर सुहैल ने कहा कि इस प्रकार के फ़ैसलों को कोई गंभीरता से नहीं लेता है और पहले भी मामले सामने आए हैं लेकिन फिर भी मैच फ़िक्सिंग और स्पॉट फ़िक्सिंग के मामले सामने आ रहे हैं.

उन्होंने कहा कि जब तक इस प्रकार के फ़ैसलों से सबक़ नहीं लिया जाएगा और क्रिकेट में सुधार नहीं लाया जाएग तब तक इस तरह के मामले सामने आते रहेंगे.

'खिलाड़ियों मौक़ा मिलना चाहिए'

पाकिस्तानी क्रिकेट के पूर्व गेंदबाज़ इक़बाल क़ासिम ने बीबीसी से बातचीत करते हुए कहा कि इस फ़ैसले से पाकिस्तान की बदनामी हुई है और पूरी जनता को अफ़सोस है.

उन्होंने कहा कि तीनों खिलाड़ी पाकिस्तानी टीम के लिए अच्छा खेलते थे और खिलाड़ियों से कभी कभी ग़लती हो जाती है इसलिए सज़ा पूरी होने के बाद उन्हें क्रिकेट खेलने का मौक़ा मिलना चाहिए.

विश्वविद्यालय के छात्र ऐजाज़ अहमद ने कहा कि उन्हें इस बात से कोई फ़र्क़ नहीं पड़ता है कि खिलाड़ियों को कितनी सज़ा हुई है.

उन्होंने आगे कहा कि जिस तरह इन खिलाड़ियों के बिना पाकिस्तानी क्रिकेट चल रही थी और फ़ैसला आने के बाद भी पाकिस्तानी क्रिकेट चलता रहेगा लेकिन ये सज़ाएँ देश के लिए बदनामी का कारण बनी हैं.

ग़ौरतलब है कि पाकिस्तान क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान सलमान बट और तेज़ गेंदबाज़ मोहम्मद आसिफ़ को लंदन की एक अदालत ने 'स्पॉट फ़िक्सिंग' के मामले में दोषी ठहराया है.

लंदन के साउथवार्क क्राउन कोर्ट ने सलमान बट को धोखेबाज़ी और भ्रष्ट तरीक़े से पैसे लेने के षडयंत्र का दोषी पाया है जबकि आसिफ़ को सिर्फ़ धोखाधड़ी के षडयंत्र का दोषी पाया गया है.

मोहम्मद आमिर इस मामले में पहले ही अपना अपराध स्वीकार कर चुके हैं.

संबंधित समाचार