शतक तो नहीं बना पर भारत मैच जीता

लक्ष्मण और सचिन ने मिलकर दूसरी पारी में भारत को जीत की दिशा दिखाई इमेज कॉपीरइट Getty
Image caption लक्ष्मण और सचिन ने मिलकर दूसरी पारी में भारत को जीत की दिशा दिखाई

भारत ने वेस्टइंडीज़ को दिल्ली के फ़िरोज़शाह कोटला मैदान पर पाँच विकेट से हराकर शृंखला में 1-0 से बढ़त ले ली है.

भारत को चौथी पारी में जीत के लिए कुल 276 रनों की ज़रूरत थी और तीसरे दिन का खेल समाप्त होने तक उसने दो विकेट के नुक़सान पर 152 रन बना भी लिए थे.

उस समय तक लगने लगा था कि अगर भारतीय बल्लेबाज़ों ने संयम नहीं खोया तो जीत मुश्किल नहीं होगी और वैसा ही हुआ.

मगर इस दौरान भारतीय क्रिकेट प्रेमियों की सचिन का 100वाँ अंतरराष्ट्रीय शतक देखने की इच्छा पूरी नहीं हो सकी.

वह 76 रन बनाकर देवेंद्र बिशू की गेंद पर एलबीडब्ल्यू आउट हुए.

उससे पहले सचिन काफ़ी जमकर खेल रहे थे और उन्होंने प्रभावशाली ढंग से अर्द्धशतक जमाया. इस पारी में उन्होंने 10 चौके जड़े.

उनका साथ दे रहे राहुल द्रविड़ के रूप में दिन का पहला विकेट गिरा था जबकि वह 31 रनों के निजी स्कोर पर फ़िडेल एडवर्ड्स की गेंद पर बोल्ड हो गए.

इसके बाद सचिन और लक्ष्मण के बीच चौथे विकेट के लिए 71 रनों की साझेदारी हुई.

मगर पहली पारी की ही तरह एक बार फिर सचिन एलबीडब्ल्यू हो गए और करोड़ों भारतीय खेल प्रेमियों की उम्मीद टूट गई.

इमेज कॉपीरइट Getty
Image caption प्रज्ञान ओझा और आर अश्विन ने वेस्टइंडीज़ के बल्लेबाज़ों को काफ़ी परेशान किया

इसके बाद वीवीएस लक्ष्मण ने पारी सँभाली और वह 58 रन बनाकर नॉट आउट रहे.

स्पिनरों का प्रदर्शन

अपने पहले ही टेस्ट में नौ विकेट लेने वाले स्पिनर आर अश्विन को मैन ऑफ़ द मैच का पुरस्कार दिया गया.

इस टेस्ट में भारतीय गेंदबाज़ों ने बेहतरीन प्रदर्शन किया और उसमें भी स्पिनरों का प्रदर्शन क़ाबिले तारीफ़ रहा. पहली पारी में जहाँ प्रज्ञान ओझा ने छह विकेट लिए थे तो दूसरी पारी में ये करिश्मा रविचंद्रन अश्विन ने किया.

वेस्टइंडीज़ ने पहली पारी में 304 रन बनाए थे जिसके जवाब में जब पूरी भारतीय टीम 209 रनों पर ही सिमट गई थी तो लगा था कि भारत के लिए संकट पैदा हो सकता है.

मगर उसके बाद अश्विन के साथ भारतीय गेंदबाज़ी आक्रमण ने दूसरी पारी में वेस्टइंडीज़ को सिर्फ़ 180 रनों पर ही निबटा दिया.

इस तरह भारत के सामने जीत के लिए 276 रनों का लक्ष्य था.

संबंधित समाचार