नस्लभेदी टिप्पणी पर सुआरेज़ को मिली सज़ा

सुआरेज़ और पैट्रिस एवरा इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption सुआरेज़ और पैट्रिस एवरा मैच के दौरान आपस में भिड़ गए थे

नस्लभेदी टिप्पणी के मामले में लिवरपूल के स्ट्राइकर लुईस सुआरेज़ के खेलने पर आठ महीने की पाबंदी लगाई गई है. इंग्लैंड के फ़ुटबॉल एसोसिएशन (एफ़ए) ने उन पर 40 हज़ार पाउंड का जुर्माना भी लगाया है.

सुआरेज़ को मैनचेस्टर यूनाइटेड के खिलाड़ी पैट्रिस एवरा के ख़िलाफ़ नस्लभेदी टिप्पणी करने का दोषी पाया गया है.

ये मामला 15 अक्तूबर का है, जब लिवरपूल और मैनचेस्टर यूनाइटेड के बीच मैच के दौरान सुआरेज़ और एवरा आपस में भिड़ गए थे. सुआरेज़ उरुग्वे और एवरा फ़्रांस के हैं.

सुआरेज़ ने नस्लभेदी टिप्पणी के आरोपों से इनकार किया है. उनके पास 14 दिनों के अंदर इस फ़ैसले के ख़िलाफ़ अपील करने का अधिकार है.

एफ़ए का फ़ैसला आने के बाद ट्विटर पर अपनी टिप्पणी में सुआरेज़ ने लिखा है, "ये मेरे और मेरे परिजनों के लिए काफ़ी मुश्किल और पीड़ादायक दिन है."

निराशा

लिवरपूल के टीम प्रबंधन ने इस मामले में सुआरेज़ का साथ दिया, लेकिन फ़ैसला सुआरेज़ के पक्ष में नहीं आया. लिवरपूल ने इस फ़ैसले पर आश्चर्य व्यक्त किया है, तो टीम मैनेजर केनी डैल्ग्लिश ने इस फ़ैसले पर निराशा जताई है.

ट्विटर पर अपनी टिप्पणी में डैल्ग्लिश ने लिखा, "इस समय सुआरेज़ को हमारे पूरे समर्थन की ज़रूरत है. उन्हें अकेला नहीं छोड़ना चाहिए."

लिवरपूल ने भी एक बयान जारी किया है. बयान में कहा गया है, "हम इसे आश्चर्यजनक मानते हैं कि सिर्फ़ एवरा के बयान पर सुआरेज़ को दोषी ठहराया गया है."

टीम प्रबंधन ने इस पर भी सवाल उठाया है कि क्या एफ़ए एवरा की ओर से भद्दी भाषा के इस्तेमाल पर भी कोई कार्रवाई करेगा या नहीं.

इस मामले पर पिछले छह दिनों से सुनवाई चल रही थी, जो मंगलवार को ख़त्म हुई. सुनवाई के बाद सुआरेज़ को एवरा के रंग से संबंधित अपमानजनक टिप्पणी का दोषी पाया गया.

संबंधित समाचार