'भारत को हरभजन की कमी खल रही है'

  • 5 जनवरी 2012
हरभजन सिंह (फ़ाईल फ़ोटो) इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption हरभजन सिंह पिछले कुछ दिनों से ख़राब फ़ॉर्म में चल रहें हैं.

पूर्व ऑस्ट्रेलियाई स्पिनर स्टूअर्ट मैकगिल का मानना है कि मौजूदा सिरीज़ में भारतीय टीम को करिश्माई ऑफ़ स्पिनर हरभजन सिंह की कमी खल रही है.

सिरीज़ के पहले मैच में ऑस्ट्रेलिया ने भारत को 121 रनों से हराया था, जबकि दूसरे मैच में भी खेल के दूसरे दिन घरेलू टीम ने मेहमानों पर बड़ी बढ़त बना ली है.

बीबीसी से ख़ास बातचीत में मैकगिल ने कहा कि भारतीय टीम में हरभजन का ना होना एक बड़ा नुक़सान है.

उन्होंने कहा, “मुझे इसमें कोई संदेह नहीं है कि अगर हरभजन सिंह पूरे फ़ॉर्म में हैं तो इस वक़्त वो दुनिया के सबसे बढ़िया स्पिनर हैं. उन्हें पिच पर अच्छा उछाल और तेज़ टर्न मिलता है और जो स्पिनर ऐसा कर सकता है उसे विकेट भी ख़ूब मिलती है.”

सिडनी टेस्ट के दूसरे दिन ऑस्ट्रेलिया की सिर्फ़ एक विकेट गिरी और अश्विन ने 28 ओवर में 103 रन दिए लेकिन उन्हें कोई विकेट नहीं मिली.

हरभजन सिंह ने 98 टेस्ट मैचों में 32 के औसत से 408 विकेट लिए हैं. ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ उनका रिकॉर्ड दमदार है और उन्होंने कई मैच में भारत को जीत दिलाई है.

अश्विन

अश्विन से भी संवाददाता सम्मेलन में पूछा गया कि क्या वो दूसरे छोर पर हरभजन सिंह की कमी महसूस कर रहे थे तो उनका जवाब था, “यहां पहले और दूसरे दिन स्पिनरों को ज़्यादा मदद नहीं मिल रही है. मैनें पूरी कोशिश की है लेकिन ये भी ध्यान रखना चाहिए कि एक स्पिनर के तौर पर मेरी भूमिका एक छोर से रन को बांधे रखना है.”

वहीं इस दौरे पर हरभजन की जगह खेल रहे ऑफ़ स्पिनर रवि अश्विन के बारे में मैकगिल ने कहा, “वो एक प्रतिभाशाली गेंदबाज़ है और उनके पास काफ़ी वेरिएशन भी है, वो कई तरह की गेंद कर सकते हैं. लेकिन मैं ये भी मानता हूं कि एक स्पिनर को सिर्फ़ रन रोकने की भूमिका में नहीं होना चाहिए बल्कि उसे लगातार विकेट लेने के बारे में सोचना चाहिए.”

ऑस्ट्रेलिया के कप्तान माइकल क्लार्क भी मानते हैं कि हरभजन में मुक़ाबला करने की गज़ब की क्षमता है.

क्लार्क ने कहा, “वो कभी हार नहीं मानने वाले क्रिकेटरों में से एक हैं और ज़बरदस्त मनोरंजक भी हैं. उनका न होना मुझे लगता है ऑस्ट्रेलियाई दर्शकों ने भी महसूस किया है.”

भारतीय चयनकर्ताओं ने भविष्य को देखते हुए सिरीज़ में युवा गेंदबाज़ अश्विन को मौक़ा दिया है और आने वाली पारियों में अश्विन विकेट लेकर उनके भरोसे को सही साबित कर सकते हैं.

संबंधित समाचार