नए कप्तान के साथ भारत को जीत की उम्मीद

भारतीय क्रिकेटर विरेंदर सहवाग इमेज कॉपीरइट Getty
Image caption ऑस्ट्रेलिया के साथ चौथे टेस्ट मैच में विरेंदर सहवाग भारतीय टीम की कप्तानी संभालेंगे.

एडिलेड में मंगलवार से शुरू हो रहे चौथे टेस्ट मैच में भारतीय टीम नए कप्तान के साथ मैदान पर उतरेगी.

एक मैच के लिए प्रतिबंधित धोनी की जगह वीरेंदर सहवाग टीम की कप्तानी करेंगे और भारतीय प्रशंसकों को नतीजे में भी बदलाव की उम्मीद है.

लगातार तीन मैच हारने के बाद इस मैच का असर सिरीज़ के नतीजे पर तो नहीं पड़ेगा, लेकिन भारतीय टीम लाज बचाने के लिए खेलेगी.

चुनौती

स्टैंड-इन कप्तान सहवाग का कहना है कि ये मौक़ा उनके और पूरी टीम के लिए एक बड़ी चुनौती है.

सहवाग मानते हैं कि इस मैच में ऑस्ट्रेलिया को टक्कर देने के लिए तेज़ गेंदबाज़ों को संयम के साथ खेलना होगा.

मैच से एक दिन पहले संवाददाता सम्मेलन में सहवाग ने कहा, "मुझे लगता है कि मुझे इन गेंदबाज़ों को खेलते हुए थोड़ा संयम दिखाने की ज़रूरत है. अगर मैं थोड़ा रूक के खेलूंगा तो हो सकता है कि मुझे मारने के लिए आसान गेंद भी मिलने लगेगी. एक अच्छे आक्रमण के खिलाफ़ ये बड़ी चुनौती है लेकिन अगर आप ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ़ रन बनाते हैं तो आपकी अच्छी तारीफ़ भी होती है."

इस सिरीज़ में भारत के विख्यात मिडिल ऑर्डर के बारे में काफ़ी कुछ लिखा गया है. तेज़ पिचों पर रन न बन पाना और खिलाड़ियों की बढ़ती उम्र और उनके संन्यास पर भी खूब चर्चा हो रही है.

सहवाग का कहना है कि ये खिलाड़ी खुद तय करेंगे कि वो कब रिटायर होते हैं लेकिन उनके रिटायर होने के बाद वीरू मिडिल ऑर्डर में खेलने के बारे में सोच सकते हैं.

सहवाग ने कहा, "इस टीम में तो मैं मध्य क्रम में नहीं खेल सकता लेकिन उनके रिटायर होने के बाद मैं ऐसा सोच सकता हूं. लेकिन ये फ़ैसला इस बात पर भी निर्भर है कि कप्तान कौन है और कौन सा खिलाड़ी रिटायर हुआ है."

ध्यान सिरीज़ जीत पर

वहीं ऑस्ट्रेलिया के कप्तान माइकल क्लार्क का कहना है कि वह इस मैच को भी उतनी गंभीरता के साथ खेलेंगे जितना उन्होंने पहला मैच खेला था और टीम का ध्यान सिरीज़ 4-0 से जीतना है.

लेकिन क्लार्क ने ये भी माना कि एडिलेड का मैदान भारतीय खिलाड़ियों को पसंद है और ये काम उतना आसान नहीं है.

उन्होंने कहा, "इस मैदान पर रिवर्स स्विंग एक बड़ा रोल निभाती है. साथ ही यहां चौथे और पांचवे दिन गेंद स्पिन भी करती है. इसलिए ये पिच भारतीय पिचों के सबसे क़रीब ऑस्ट्रेलियाई पिच है और हमारा काम आसान नहीं होगा."

इस मैच के लिए ऑस्ट्रेलियाई टीम में बाएं हाथ के तेज़ गेंदबाज़ मिचेल स्टार्क की जगह ऑफ़ स्पिनर नेथन लॉयन को शामिल किया गया है.

वहीं भारतीय बारह में भी रवि अश्विन और प्रज्ञान ओझा को शामिल किया गया है जबकि विनय कुमार टीम से बाहर हैं.

संबंधित समाचार