रिटायर नहीं होंगे सीनियर खिलाड़ी

  • 28 जनवरी 2012
ऑस्ट्रेलियाई टीम इमेज कॉपीरइट Reuters

ऑस्ट्रेलिया ने भारत को एडिलेड में खेले गए चौथे टेस्ट मैच में 298 रन से हरा दिया है. पांच सौ रनों के स्कोर का पीछा करते हुए भारतीय टीम दूसरी पारी में 201 रनों पर ऑल आउट हो गई.

इस तरह ऑस्ट्रेलिया ने ये श्रृंखला चार-शून्य से जीत ली है. पांचवे दिन ऑस्ट्रेलिया को सिर्फ़ चार विकेट लेने थे और उसमें कोई देर नहीं लगी.

मैच के बाद प्रेसवार्ता में भारतीय मैनेजर ने कहा कि टीम के सीनियर खिलाड़ियों के रिटायर होने के बारे में मीडिया में आ रही ख़बरें आधारहीन हैं.

शनिववार को सबसे पहले इशांत शर्मा को हैरिस ने विकेट के पीछे आउट किया. साहा भी सिडल की गेंद पर हैडिन को कैच थमा बैठे.

ज़हीऱ खान हिलफ़ेनहौस का शिकार बने और लॉयन ने उमेश यादव की विकेट लेते हुए ऑस्ट्रेलिया की जीत पक्की की.

इस सिरीज़ में भारतीय बल्लेबाज़ आठ में से चार बार दो सौ से कम के स्कोर में आउट हुए. बल्लेबाज़ में सिर्फ़ विराट कोहली ने एक शतक लगाया, लेकिन गेंदबाज़ों ने कई बार एक पारी में सौ से ज़्यादा रन खर्च किए.

वहीं ऑस्ट्रेलिया ने दो बार 600 से ज्यादा रन बनाए और उनकी टीम की तरफ़ से छह शतक लगे.

ख़राब बल्लेबाज़ी से हुआ नुकसान

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption जीत की ट्रॉफ़ी के साथ ऑस्ट्रेलिया के कप्तान माइकल क्लार्क

मैच के बाद भारतीय कप्तान विरेंदर सहवाग ने माना कि उनकी टीम ऑस्ट्रेलिया से हर मामले में पीछे रही लेकिन सबसे बड़ा नुक्सान खराब बल्लेबाज़ी से हुआ.

उन्होंने कहा, “हमारे बल्लेबाज़ों में कोई तकनीकी खराबी नहीं है लेकिन मुश्किल इस बात से आई कि हम बड़ी साझेदारी नहीं बना सके. हमारी 50 रनों की साझेदारी होती थी लेकिन हम उसे 200 या 300 की साझेदारी में नहीं बदल सके जिससे हमारे गेंदबाज़ों को भी विकेट लेने के लिए समय नहीं मिल सका.”

वहीं विजेता कप्तान माइकल क्लार्क ने कहा कि वो तीन टेस्ट जीतने के बाद भी आराम नहीं कर रहे थे बल्कि टीम का ध्यान सिरीज़ 4-0 से जीतने में था.

रिटायर नहीं होंगे सीनियर

इमेज कॉपीरइट ALL SPORT Getty
Image caption कप्तान धोनी की फ़ॉर्म और नेतृत्व पर भी सवाल उठाए जा रहे हैं

उन्होंने कहा, “हम अपनी जीत को आसान नहीं मानते. हालांकि रिज़ल्ट 4-0 रहा है लेकिन मैदान के अंदर दोनों टीमों के बीच कड़ मुकाबला रहा. ये जीत सिरीज़ से पहले और उसके दौरान हमारी कड़ी मेहनत का नतीजा है.”

ऑस्ट्रेलिया से लगातार चार मैच हारने से पहले भारत ने इंग्लैंड से भी 4-0 की मात खाई थी.

विरेंदर सहवाग ने कहा कि इस तरह की हार से टीम के चाहने वालों को दुख होगा लेकिन मुश्किल में भी उन्हें टीम इंडिया का साथ देना चाहिए.

सहवाग ने कहा, “जब हम विश्व कप जीते थे तो लोग बहुत खुश थे और हमें बहुत प्यार दिया था. अभी हम हारे हैं लेकिन फैंस को अभी भी, इस मुश्किल घड़ी में भी, हमें समर्थन देना चाहिए.”

भारतीय मीडिया मैनेजर ने संवाददाता सम्मेलन में टीम के सीनियर खिलाडियों द्वारा लिखा गया एक बयान पढ़ा जिसमें कहा गया कि टीम के सीनियर खिलाड़ी अभी रिटायर नहीं कर रहे और कुछ मीडिया में इस तरह की आई खबर बेबुनियाद है.

संबंधित समाचार