ट्यूमर लगभग ग़ायब हो गया है: युवराज

युवराज सिंह
Image caption ये तस्वीर युवराज सिंह ने अस्पताल से ट्विटर के ज़रिए जारी की थी.

अमरीका के एक अस्पताल में कैंसर से जूझ रहे क्रिकेट खिलाड़ी युवराज सिंह का कहना है कि उनका ट्यूमर लगभग ख़त्म हो गया है.

युवराज सिंह अस्पताल से माइक्रो ब्लॉगिंग साइट ट्विटर पर ये संदेश दिया है. वे बीच-बीच में ट्विटर पर संदेश लिखते रहते हैं.

गुरुवार को युवराज सिंह ने ट्विटर पर लिखा, "लांरेस से आज बहुत ही अच्छी ख़बर मिली है. आज किए गए स्कैन से पता चला है कि ट्यूमर मेरे सिस्टम से लगभग बाहर निकल गया है."

डॉक्टर ने कहा है कि युवराज के 'मीडियास्टिनल सेमिनोमा' नाम के दुर्लभ किस्म का कैंसर है और इसका इलाज संभव है.

उन्होंने ने साफ़ किया है कि ये फेफ़ड़े का कैंसर नहीं है.

युवराज सिंह को मज़ाक में उनकी धीमी गेंदबाज़ी के लिए 'पाई चकर' कहने वाले इंग्लैंड के बल्लेबाज़ केविन पीटरसन ने इस ताज़ा ख़बर का स्वागत किया है.

पीटरसन ने ट्विटर पर दी गई अपनी प्रतिक्रिया में लिखा, "बहुत बढ़िया पाई चकर, मज़बूत बने रहो चैंपियन."

इससे पहले बीते शुक्रवार को युवराज सिंह ने केमोथिरेपी के बाद की एक तस्वीर भी ट्विट की थी, जिसमें उनके सिर पर बाल नहीं थे.

उनकी बीमारी से वाकिफ दिल्ली के एक डॉक्टर ने पिछले हफ़्ते बताया था कि युवराज मई के पहले हफ़्ते से एक बार फिर क्रिकेट के मैदान में उतर सकते हैं.

डटे रहो युवराज

युवराज ने अपनी बीमारी के दौरान अमरीकी साईकिलिस्ट और साईकिलिंग की दुनिया के सबसे ख़िताब टुअर डे फ़्रांस को सात बार जीतने वाले लांस आर्मस्ट्रांग से प्रेरित होने की बात की थी.

आर्मस्ट्रांग ने भी कैंसर के ख़िलाफ़ जंग जीती है और वे कैंसर की चंगुल से बचे लोगों के लिए 'लिवस्ट्रोंग' नाम की एक चैरिटी भी चलाते हैं.

इसके बाद आर्मस्ट्रांग ने भी युवराज को प्रोत्साहित करने के लिए संदेश भेजा था.

लांस आर्मस्ट्रोंग ने एक छोटे से संदेश में लिखा था, "गो यूवी, लिव स्ट्रांग."

जवाब में युवराज सिंह ने उनका धन्यवाद करते हुए आर्मस्ट्रांग से मिलने की इच्छा ज़ाहिर की थी.

संबंधित समाचार