ओलंपिक का बहिष्कार नहीं होगा

Image caption डाओ के विरोध में भारत में विरोध प्रदर्शन भी हुए हैं.

डाओ केमिकल के ओलंपिक प्रायोजन के मुद्दे पर भारत सरकार ने अपने एथलीटों को ओलंपिक के बहिष्कार के लिए नहीं कहा है.

राज्यसभा में एनके सिंह के एक सवाल के लिखित जवाब में केंद्रीय खेल मंत्री अजय माकन ने ये जानकारी दी है.

बयान में कहा गया है कि सरकार ने डाओ केमिकल का नाम प्रायोजकों से हटाने के संबंध में कूटनीतिक जरिए से ब्रितानी सरकार से बातचीत की गई लेकिन उन्होंने संकेत दिया है कि वो ऐसा करने में असमर्थ हैं.

ऐसे में सरकार ने फैसला किया है कि वो डाओ केमिकल से भोपाल के लोगों को हुए नुकसान के बारे में अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक कमिटी के सदस्य देशों में अपने मिशनों के ज़रिए और जानकारी देंगे.

बयान के अनुसार सरकार कोशिश करेगी कि पूरी दुनिया में भोपाल त्रासदी के बारे में पता चले और इस बारे में पूरा ज़ोर लगाया जाएगी कि ओलंपिक कमिटी के सदस्य देशों को इस संबंध में और अधिक जानकारी मिले.

सरकार ने बताया कि भारतीय ओलंपिक एसोसिएशन से कहा गया था कि यह मामला इंटरनेशनल ओलंपिक कमिटी के सामने उठाया जाए. जब ओलंपिक एसोसिएशन ने यह मामला कमिटी के सामने रखा तो कमिटी ने जवाब दिया कि डाओ केमिकल्स का भोपाल त्रासदी से कोई लेना देना नहीं है क्योंकि डाओ केमिकल्स का यूनियन कार्बाइड में कोई दावा नहीं है.

इसे देखते हुए अब सरकार ने तय किया है कि एथलीट ओलंपिक का बहिष्कार नहीं करेंगे लेकिन भोपाल त्रासदी के बारे में पूरी दुनिया में और जानकारी फैलाई जाएगी.

संबंधित समाचार