पाकिस्तान में आईपीएल जैसी लीग की तैयारी

Image caption पीपीएल की संरचना भी आईपीएल की तरह ही बनाई गई है.

पाकिस्तान में इंडियन प्रीमियर लीग की तरह ट्वेंटी ट्वेंटी क्रिकेट टूर्नामेंट की तैयारी चल रही है.

पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड को उम्मीद है कि पाकिस्तान प्रीमियर लीग के जरिए देश में तीन साल के अंतराल के बाद अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटरों की वापसी होगी.

साल 2009 में लाहौर में श्रीलंकाई टीम पर चरमपंथियों के हमले के बाद पाकिस्तान में कोई भी विदेशी टीम क्रिकेट खेलने नहीं आई है. इस हमले में आठ लोग मारे गए थे और कई श्रीलंकाई खिलाड़ी घायल हुऐ थे.

पाकिस्तान ने इस दौरान होने वाले टेस्ट मैच दुबई में खेले हैं जिससे बोर्ड की आमदनी का एक बडा जरिया भी कम हुआ है.

लेकिन अब पीपीएल के कंधों पर सवार होकर पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड इन दोनों समस्याओं से एक साथ निपटने की तैयारी कर रहा है.

पीपीएल की संरचना भी आईपीएल की तरह ही की गई है.

पीसीबी को इस हफ्ते 4 कंपनियां पीपीएल के आयोजन पर अपनी योजनाएं पेश करने वाली हैं.

समाचार एजेंसी एएफपी के मुताबिक इन कंपनियों में एक भारतीय कंपनी भी शामिल है. रिपोर्टों के मुताबिक संयुक्त अरब एमीरात स्थित एक बैंक और दो दूरसंचार कंपनियां पीपीएल की टीमों को खरीदने के लिए तैयार हैं.

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption पाकिस्तान में 2009 के बाद अंतर्रराष्ट्रीय क्रिकेट नहीं खेला गया है

पीसीबी के सीईओ सुभान अहमद ने एएफपी से कहा, "कॉरपोरेट कंपनियों से इतनी बढ़िया प्रतिक्रिया देखकर हम बहुत खुश हैं. हम विदेशी खिलाड़ियों के साथ एक ट्वेंटी 20 टूर्नामेंट की योजना बना रहे हैं और अगर ऐसा हो गया तो ये पाकिस्तानी क्रिकेट के लिए अच्छी बात होगी."

सुरक्षा की चुनौती

अहमद के मुताबिक पाकिस्तान में सुरक्षा के हालात सुधरे हैं लेकिन विदेशी खिलाड़ियों को फिर से पाकिस्तान में खेलने के लिए मनाना एक बड़ी चुनौती होगी.

अंतरराष्ट्रीय क्रिकट काउंसिल यानि आईसीसी के पूर्व अध्यक्ष एहसान मनी के मुताबिक विदेशी खिलाड़ियों को राजी करने में वक्त लग सकता है और इसमें पाकिस्तान को कड़ी मशक्कत करनी पड़ेगी.

उन्होंने कहा, "पीसीबी के पास सुरक्षा की विस्तृत योजना होनी चाहिए और उन्हें सुरक्षा के इंतजाम का जायजा लेने में आईसीसी की भी मदद लेनी चाहिए. उन्हें एक ऐसी लीग शुरु करनी चाहिए जिसमें पहले तो कुछ विदेशी खिलाड़ियों को बुलाया जाए और जब भरोसा बढ़े तो इन खिलाड़ियों की संख्या में इजाफा किया जाए."

हाल ही में बांग्लादेश ने अपने पहले ट्वेंटी 20 टूर्नामेंट बीपीएल का सफल आयोजन किया था जिससे भी पीसीबी की उम्मीद बढ़ी है.

संबंधित समाचार