बदतमीजी अधिकारियों ने की:शाहरुख

शाहरूख खान इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption मामले पर शाहरूख खान का पक्ष अभी सामने नहीं आया है.

मुंबई क्रिकेट संघ के अधिकारियों से बदतमीजी के आरोपों का सामना कर रहे बॉलीवुड स्टार और कोलकाता नाईट राइडर्स के मालिक शाहरुख खान ने अपने बचाव में संघ के अधिकारियों पर निशाना साधा है.

उन्होंने कहा है कि मुंबई क्रिकेट संघ के अधिकारियों ने उनके बच्चों और वहां मौजूद एक लड़की से बदतमीजी की जिसके लिए उन्हें माफी मांगनी चाहिए.

मुंबई में अपने घर पर पत्रकारों से बातचीत में उन्होंने कहा कि उन्होंने शराब नहीं पी रखी थी. उन्होंने कहा, ''मैं सामाजिक समारोह को छोड़ कर शराब नहीं पीता.''

उन्होंने कहा कि वे स्टेडियम में अपने बच्चों को लेने गए थे जहां पर उन्होंने देखा कि वहां कुछ अधिकारी बच्चों से बदतमीजी कर रहे थे और एक छोटी लड़की को धक्का दे रहे थे.

शाहरुख ने कहा, ''मैंने उन्हें ऐसा (बदतमीजी) करने से मना किया पर वे नहीं माने. उसके बाद उन्होंने मेरे साथ बदतमीजी की. मैंने गाली दी लेकिन पहले उन लोगों ने गाली दी थी. जिस तरीके से अधिकारी बच्चों से व्यवहार कर रहे थे वो माफी के लायक नहीं है."

अधिकारियों का आरोप

मामला बुधवार की रात का है जब आईपीएल का मैच खत्म हुआ था. मुंबई क्रिकेट संघ के अधिकारियों ने उन पर गालियां देने और हाथापाई करने का आरोप लगाया था.

इससे पहले खबर आई थी कि एमसीए वानखेडे़ स्टेडियम में उनके प्रवेश पर आजीवन प्रतिबंध लगाने पर विचार कर रहा है.

मुंबई क्रिकेट संघ के अध्यक्ष विलासराव देशमुख ने पत्रकारों से बातचीत में कहा था, "उन पर पाबंदी लगाने का प्रस्ताव है. इस पर एमसीए की प्रबंधन कमेटी जल्द से जल्द बैठक करेगी.''

समाचार एजेंसी पीटीआई ने एमसीए के कोषाध्यक्ष रवि सावंत के हवाले से कहा, ''उन्होंने आईपीएल मैच के बाद एमसीए के सुरक्षाकर्मियों और हमारे अध्यक्ष विलासराव देशमुख सहित एमसीए के अधिकारियों से गलत व्यवहार किया. हमने उन पर स्टेडियम में भविष्य में प्रवेश करने पर आजीवन प्रतिबंध लगाने का फैसला किया है.''

ये घटना कोलकाता की मुंबई इंडियंस पर शानदार जीत के बाद हुई. बेहतरीन गेंदबाजी करते हुए कोलकाता की टीम ने मुंबई इंडियंस पर 32 रन की जीत हासिल कर चैंपियनशिप में प्ले ऑफ यानी अंतिम चार में जगह बना ली है.

सावंत ने कहा कि मैच के बाद शाहरुख और उनके अंगरक्षक टीम के ड्रेसिंग रूम में गए और फिर नीचे आ गए और मैदान की तरफ जा रहे थे.

उन्होंने कहा, ''सुरक्षाकर्मियों ने उन्हें ऐसा करने से मना किया क्योंकि मैच खत्म हो चुका था जिसके बाद शाहरुख ने अभद्र भाषा का इस्तेमाल किया. उनके लोगों ने हाथापाई भी की. हम इसके बारे में उनके खिलाफ पुलिस से भी शिकायत करेंगे.''

उन्होंने कहा कि वे भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड यानी बीसीसीआई को भी इस घटना से अवगत करवाएंगे.

'कमेटी करेगी फैसला'

आईपीएल के चेयरमैन राजीव शुक्ला ने कहा है कि इस मामले पर रिपोर्ट का इंतजार है.

उन्होंने कहा, ''मैं दोनों पक्षों के बयान आने पर ही कोई टिप्पणी कर पाउंगा. अभी तक उन (शाहरुख खान) पर प्रतिबंध लगाने के बारे में कोई फैसला नहीं लिया गया है. ''

एमसीए के उपाध्यक्ष और बीसीसीआई के प्रशासनिक अधिकारी रत्नाकर शेट्टी ने कहा है, ''हम सारी जानकारी लेने का प्रयास कर रहे हैं. सारी जानकारी आने के बाद ही बीसीसीआई इस मामले पर कोई टिप्पणी कर सकता है.''

आईपीएल चंद दिनों पहले ही कथित स्पॉट फिक्सिंग पर स्टिंग ऑप्रेशन के विवाद में फंस गया था जिस मामले में पांच खिलाड़ियों को निलंबित किया गया है.

संबंधित समाचार