यूरो 2012: पोलैंड-ग्रीस ड्रॉ, रूस की जीत

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption पोलैंड और ग्रीस का मैच देखने के लिए लगभग एक लाख दर्शक एकत्र हुए

नस्लभेद और बॉयकॉट के विवादों के बीच यूरोपियन फुटबॉल चेंपियनशिप 2012 पोलैंड की राजधानी वॉरसॉ में भव्य समारोह के साथ शुरु हो गई है.

शुरुआत से पहले कुछ खिलाड़ियों ने स्टेडियम से वॉक आउट की धमकी दी थी यदि उन्हें दर्शकों की ओर से नस्लभेदी गाली-गलौच का निशाना बनाया जाता है.

उधर यूरोपीय नेता यूरोपियन चेंपियनशिप 2012 के दूसरे मेजबान देश यूक्रेन में कैद देश के पूर्व प्रधानमत्री यूरिया तिमशैंको के प्रति सरकार के बर्ताव के विरोध में खेलों का बहिष्कार कर रहे हैं.

लेकिन इन सभी विवादों को पीछे छोड़ते हुए वॉरसॉ में नेशनल स्टेडियम में पोलैंड के अनेक फुटबॉल प्रेमी जमा हुए. लगभग सभी दर्शकों ने पोलैंड के लाल और सफेद रंग के कपड़े पहन रखे थे.

ये पोलैंड में होने वाला हाल फिलहाल की सबसे बड़ी फुटबॉल प्रतियोगिता है और पिछले पाँच साल से इसकी तैयारी चल रही थी.

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption कुछ रूसी दर्शकों ने भी रूस-चेक गणराज्य मैच का लुत्फ उठाया

शुरुआती समारोह में संगीतकार चोपिन को श्रद्धांजलि प्रस्तुत की गई. वे वॉरसॉ में रहते थे.

रूस की जीत, पोलैंड-ग्रीस मैच ड्रॉ

प्रतियोगिता का पहला मैच पोलैंड और ग्रीस के बीच हुआ जो 1-1 से ड्रॉ रहा. गौरतलब है कि समाचार एजेंसियों के अनुसार स्टेडियम में लगभग एक लाख दर्शकों ने इस मैच का आनंद उठाया.

दूसरा मैच रूस और चेक गणराज्य के बीच हुआ जिसमें रूस ने चेक गणराज्य को 4-1 से रौंद दिया.

रूस के एलेन जागोएव ने शानदार प्रदर्शन करते हुए दो गोल दागे जबकि रोमन शिरोकोव ने एक और रोमन पेवलिएवचेंको ने एक गोल किया.

चेक गणराज्य की ओर से वेकलव पिलार ने एक गोल किया.

संबंधित समाचार