ओलंपिक: पेस-भूपति नहीं तो फिर कौन?

इमेज कॉपीरइट BBC World Service

लंदन ओलंपिक में टेनिस में पुरुष डबल्स मुकाबलों के लिए भारत से कौन जाएगा इसे लेकर विवाद गहराता जा रहा है.

टेनिस खिलाड़ी महेश भूपति और रोहन बोपन्ना दोनों ने लिएंडर पेस के साथ डबल्स में खेलने से मना कर दिया है. दोनों ने इस बारे में खेल मंत्री को आधिकारिक चिट्ठी भी लिखी है.

ऑल इंडिया टेनिस एसोसिएशन ने पेस और भूपति को लंदन ओलंपिक में भारत का प्रतिनिधित्व करने के लिए चुना है.

लेकिन भूपति और बोपन्ना दोनों पेस के साथ खेलने को तैयार नहीं है. दोनों ने खेल मंत्री अजय माकन को लिखे पत्र में कहा है, हमें ये देखकर हैरानी हुई है कि लंदन ओलंपिक के लिए टेनिस में दो टीमों ने क्वालिफाई किया है तो फिर एक ही टीम को क्यों भेजा जा रहा है. हमारी सफल जोड़ी को नजरअंदाज कर दिया गया है. एक ऐसी जोड़ी को भेजा जा रहा है जो पिछले ओलंपिक खेलों में विफल रही है जो काफी अजीब बात है.

दोनों ने लिखा, हम दोनों 2012 में इसी मकसद के साथ जुड़े थे कि ओलंपिक में भारत का प्रतिनिधित्व का करेंगे. हम शुरु से ही एआईटीए को बताते रहे हैं कि हम साथ खेलना चाहेंगे. हमसे कहा गया था कि इस बात को काफी संभावना है कि डबल्स टीम में दो टीमें भेजी जा सकती हैं.

महेश और बोपन्ना ने सवाल पूछा है कि अगर एक ही टीम भेजनी थी तो ये पहले क्यों नहीं बताया गया ताकि संबंधित खिलाड़ी एक साथ अभ्यास कर सकते.

किसकी बने जोड़ी

इमेज कॉपीरइट Getty

लंदन ओलंपिक में पेस के साथ न खेलने के भूपति और बोपन्ना के फैसले ने टेनिस एसोसिएशन को उलझन में डाल दिया है.

अजय माकन ने ट्विटर पर प्रतिक्रिया देते हुए लिखा है, हम दो टीमें भेज सकते हैं फिर एक ही टीम क्यों ? छिपा सवाल ये है कि सानिया के साथ कौन खेलेगा. एक विजेता मिक्सड डबल्स जोड़ी के साथ क्यों छेड़छाड़ करनी?

सानिया मिर्जा और महेश भूपति ने हाल ही में फ्रेंच ओपन में मिक्सड खिताब जीता है.

उधर लिएंडर पेस ने कहा है कि जिसे एआईटीए चुनेगी वे उसके साथ खेलने को तैयार हैं.

पेस ने 1996 ओलंपिक में एकल मुकाबले में कांस्य जीता था.

संबंधित समाचार