मां का मंत्र, जमीं पर रहना गगन

  • 18 जुलाई 2012
गगन नारंग
Image caption शूटर गगन नारंग की मां अमरजीत का कहना है कि उनके बेटे का भरोसा काफी मजबूत है. वह जिस दिन सोचे ले कि उसे जीतना है, वह जीत सकता है

ओलंपिक में जिन भारतीयों से पदक की उम्मीद की जा रही है उनमें एयर राइफल शूटर गगन नारंग का नाम भी है.

गगन खुद आत्मविश्वास से भरे हैं. लेकिन लंदन जाने से पहले उनकी मां अमरतीज नारंग ने कामयाबी के लिए जरूरी मंत्र दिया है.

एयर राइफल शूटर नारंग की मां ने अपने बेटे से कहा कि उन्हें अपने पैर जमीं पर रखने चाहिएं.

बीबीसी से बातचीत में अमरजीत ने कहा, “मेरा मानना है कि कामयाबी सिर से ऊपर से नहीं जानी चाहिए. मैं अपने बेटे से यही कहूंगी कि वह सिर्फ मेहनत करे और बाकी भगवान पर छोड़ दे.”

मजबूत भरोसा

हालांकि, अमरजीत नारंग का अपने बेटे पर भरोसा भी काफी मजबूत है.

उन्होंने कहा, “गगन का भरोसा काफी मजबूत है. जिस दिन अगर सोचे ले कि उसे जीतना है तो वह जीत सकता है. उसने ओलंपिक के लिए काफी मेहनत की है.”

बेशक मां अपने बेटे की प्रगति के काफी खुश हैं लेकिन उन्होंने कभी उनकी पढ़ाई को लेकर कभा समझैता नहीं किया.

अमरजीत नारंग ने कहा , “हर मां-बाप अपने बच्चों को इंजीनियर या डॉक्टर बनते देखना चाहते हैं. हम भी ऐसा चाहते थे. हमने कभी उसकी पढ़ाई के साथ कभी समझौता नहीं किया. गगन ने कई टेस्ट भी दिए. लेकिन हम खुश हैं कि उसने अपनी कंप्यूटर एप्लिकेशंस की पढ़ाई पूरी की. ”

गगन की सुस्ती

अमरजीत बताती हैं कि बचपन में गगन स्कूल जाने के लेकर काफी सुस्त थे. स्कूल जाने को लेकर उसके साथ काफी खींचतान नहीं करनी पड़ती थी.

बेटे की शादी के बारे में पूछे जाने पर अमरजीत नारंग ने कहा, “ मैं गगन के सारे दोस्तों को जानती हूं. उनका घर में आना-जाना भी है. लेकिन अभी मेरी नजर में ऐसा कोई नहीं है जिसे लेकर गगन गंभीर हो.”

अमरजीत ने बताया , “ गगन को नॉनवेज खाने का शौक है. वह अधिकतर दौरों पर रहता है. वहां नॉनवेज ही मिलता है. बिरयानी उसे काफी पसंद है. ”

संबंधित समाचार