ओलंपिक: खराब खेलनेवाली बैडमिंटन खिलाड़ी डिस्क्वालिफ़ाई

बैडमिंटन इमेज कॉपीरइट Xinhua
Image caption ढीले खेल को देख दर्शको ने ख़ूब हंगामा किया था

लंदन ओलंपिक के महिला बैडमिंटन डबल्स मुक़ाबलों में जान-बूझकर ख़राब खेलनेवाली चार टीमों की आठ खिलाड़ियों को डिस्क्वालिफ़ाई कर दिया गया है.

इनमें दुनिया की पहले नंबर की जोड़ी चीन की खिलाड़ियों की टीम, दक्षिण कोरिया की दो टीमें और इंडोनेशिया की एक टीम शामिल है.

बैडमिंटन वर्ल्ड फ़ेडरेशन ने इन आठ खिलाड़ियों पर आरोप लगाया है कि उन्होंने 'मैच जीतने के लिए पूरे मन से नहीं खेला' और 'ऐसा व्यवहार किया जिससे कि खेल का अपमान और नुक़सान हुआ'.

ओलंपिक आयोजन समिति के अध्यक्ष लॉर्ड को ने इन खिलाड़ियों की हरकतों को ओलंपिक के लिए एक बुरा समाचार बताया.

चीन इस घटना की अलग से जाँच कर रहा है. चीन की सरकारी मीडिया ने कहा है कि साफ़-सुथरा खेल मेडल जीतने से अधिक महत्वपूर्ण है.

विवाद

मंगलवार को चीन और दक्षिण कोरिया की जोड़ियों के बीच हुए मैच के दौरान इन खिलाड़ियों के आधे मन से खेले जा रहे खेल को देख स्टेडियम में मौजूद दर्शकों ने ख़ूब शोर-शराबा किया.

दरअसल चीन और दक्षिण कोरिया के मैच में एक-दूसरे का सामना कर रही जोड़ियां पहले ही क्वार्टर फाइनल में पहुंच चुकी थीं.

इसके बाद ऐसा समझा जा रहा है कि दोनों ने ही मैच हारने की कोशिश की ताकि उन्हें क्वार्टर फाइनल में आसान टीमों से मुक़ाबला मिले. अंततः दक्षिण कोरिया की टीम जीत गई.

मैच के बाद दक्षिण कोरिया की जोड़ी ने तो कोई टिप्पणी नहीं की लेकिन चीन की यू ने कहा कि वांग और नॉक-ऑउट स्तर के लिए अपना दमखम बचाकर रखना चाहती थीं.

इस मैच के बाद दक्षिण कोरिया और इंडोनेशिया की जोड़ियों के बीच मैच हुआ और उसपर भी सवाल उठाए गए.

ये दोनों जोड़ियां भी पहले से ही क्वार्टर फाइनल में प्रवेश कर चुकीं थीं.

इस मैच में दक्षिण कोरिया ने इंडोनेशिया को हरा दिया.

संबंधित समाचार