महँगा मेडल - ओलंपिक मसाला

  • 2 अगस्त 2012
इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption अपनी साथी गोताखोर के साथ वू मिन्क्शिया (लंबी तैराक)

महँगा मेडल

जीत और वो भी ओलंपिक में जीत – एथलीट के लिए ये एक ख़ुशी की घड़ी होगी ना?

मगर चीन की गोताखोर वू मिन्क्शिया के साथ कुछ और हुआ.

उन्होंने सिन्क्रोनाइज़्ड स्विमिंग गोताखोरी में स्वर्ण जीत हैट्रिक बनाया, एथेंस और बीजिंग में भी उन्होंने सोना जीता था

लंदन में भी कारनामा दोहराने के साथ ही वे एक ऐतिहासिक खिलाड़ी बन गईं.

लेकिन इसके बाद ही इस खिलाड़ी के माता-पिता ने उन्हें दो बातें बताईं जिसे उन्होंने काफ़ी समय से छिपाए रखा था.

एक साल पहले वू के दादा-दादी का देहांत हो गया. और वू की माँ पिछले कई सालों से कैंसर से जूझ रही हैं.

मगर खेल की ख़ातिर उससे ये दोनों बातें छिपाकर रखी गईं ताकि उसका ध्यान ना बँटे. वू के माँ-बाप को और सारे चीन को वू से उम्मीदें थीं जिसे उन्होंने पूरा किया.

तौलिये की ताक़त

इमेज कॉपीरइट BBC World Service

खिलाड़ियों में तरह-तरह का अंधविश्वास के होने की कहानियाँ अक्सर आती रहती हैं, जैसे क्रिकेटर मोहिंदर अमरनाथ के जेब में लाल रूमाल रखने जैसी कहानी.

इस ओलंपिक में भी एक खिलाड़ी के अंधविश्वास की चर्चा हो रही है. अमरीकी जिम्नास्ट डैनेल लेवा के तौलिये को सब पहचानने लगे हैं.

मुक़ाबलों के बीच लेवा इस तौलिए को सिर पर रख इसमें खो से जाते हैं और उन्हें आस-पास की कोई चीज़ नज़र नहीं आती.

पहले उनके पास धूसर-नीले, तारों वाले दो तौलिये थे, अब एक ही है, दूसरा फट चुका है.

तौलिये में कितनी ताक़त है इसका अंदाज़ा इससे मिलता है कि इस साल विंटर कप मुक़ाबले में लेवा लकी तौलिया ले जाना भूल गए और प्रतियोगिता में उनकी ऐसी-तैसी हो गई.

तौलिया इतना मशहूर हो चुका है कि इसका अपना ट्विट एकाउंट भी तैयार हो गया है.

पोशाक का इतिहास

इमेज कॉपीरइट BBC World Service

ट्यूनीशिया की वेटलिफ़्टर ग़ादा हसीने ने लंदन ओलंपिक में अखाड़े में उतरते ही नया इतिहास बना डाला. वो ऐसा पोशाक पहनकर भार उठानेवाली पहली खिलाड़ी बन गई हैं जिससे बदन का अधिकतर हिस्सा ढका रहता है.

पहले वेटलिफ़्टिंग में प्रतियोगियों की पोशाक के नियम के अनुसार उनके बाज़ू और पैर का निचला हिस्सा नहीं ढका होना चाहिए था.

मगर पिछले साल ये नियम बदल दिया गया.

इसके लिए अपील अमरीका की तरफ़ से आई थी जिनकी टीम में शामिल एक मुस्लिम वेटलिफ़्टर ऐसा पोशाक पहनकर उतरना चाहती थी जो उसकी संस्कृति के अनुकूल हो.

अमरीकी वेटलिफ़्टर का तो पता नहीं, मगर ट्यूनीशियाई वेटलिफ़्टर को इस बदलाव का लाभ अवश्य मिल गया.

दिख गया कुछ

इमेज कॉपीरइट BBC World Service

अमरीकी चैनल एनबीसी को ओलंपिक का सीधा प्रसारण ना कर उन्हें प्राइम टाइम में दिखाने को लेकर काफ़ी कुछ सुनना पड़ रहा है.

मगर एक घटना ऐसी हुई जहाँ ये रिकॉर्डेड प्रसारण काम में आ सकता था.

अमरीका और स्पेन की महिलाओं के बीच वॉटर पोलो का मैच चल रहा था. अचानक पानी के नीचे रहनेवाले कैमरे ने एक दृश्य दिखाया – एक खिलाड़ी ने दूसरी खिलाड़ी का स्विमिंग सूट ऐसा कसकर खींचा कि एक क्षण में साफ़-सुथरा खेल, ‘केवल वयस्कों के लिए’ बन गया.

सारा कुछ बस कुछ सेकंड में घटित हुआ, जैसे ही उस खिलाड़ी का वक्ष सूट से बाहर आया, उसने जमकर अगले को लात लगाई और वो दूर छिटक गई.

इतनी छोटी घटना कईयों की नज़र से निकल गई, मगर ध्यान से देखनेवाले भी लोग तो होते हैं, उन्होंने ना केवल देखा बल्कि ट्विटर पर प्रतिक्रियाएँ भी डालनी शुरू कर दीं.

एक ने लिखा – मुझे नहीं लगता इस तरह ओलंपिक देखते समय एक लड़की का वक्ष दिखाया जाना क़ानूनी तौर पर सही है.

वहीं दूसरे ने लिखा – अभी-अभी ओलंपिक में एक वक्ष देखा. महिलाओं के वाटर पोलो मुक़ाबलों का जवाब नहीं!

संबंधित समाचार