अंपायरों वर्दी वापस करो वर्ना...

इमेज कॉपीरइट icc
Image caption श्रीलंका में अंपायरों से यूनीफॉर्म लौटाने को कहा गया है

श्रीलंका में अंपायरों से कहा गया है कि वो अपनी यूनीफॉर्म वापस कर दें अन्यथा उन पर जुर्माना लगाया जाएगा.

यूनीफॉर्म वापस करने के लिए उन्हें भारत के खिलाफ चल रही मौजूदा सीरीज के खत्म होने तक का समय दिया गया है.

हालांकि अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट काउंसिल यानी आईसीसी ने हाल ही में अपने एक बयान में कहा था कि उसने माँग के हिसाब से पर्याप्त मात्रा में यूनीफॉर्म मुहैया कराई थी.

श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड ने चौथे अंपायर की भूमिका निभा रहे उन छह अधिकारियों से कहा है कि वे अपने यूनीफॉर्म 12 अगस्त तक वापस कर दें ताकि 38 डॉलर प्रतिदिन के हिसाब से उन्हें जुर्माना न भरना पड़े.

इन अंपायरों को अंपायर मैनेजर और मैच रेफ्री की ओर से ई-मेल के जरिए ये सूचना दी गई है. सूचना भेजने वाले कार्ल्टन बर्नार्डस ने इस मामले पर टिप्पणी करने से इंकार कर दिया.

श्रीलंका से प्रकाशित होने वाले दैनिक डेली मिरर के खेल संपादक चन्नका डीसिल्वा ने इस मामले में बर्नार्डस से बात की थी और इसकी खबर दी थी.

यूनीफॉर्म की कमी

उनके मुताबिक श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड ने बड़े पैमाने पर यूनीफॉर्म बाँट दी थी जिसकी वजह से यूनीफॉर्म की कमी हो गई.

डी सिल्वा कहते हैं, “आईसीसी अपने सदस्यों को भी यूनीफॉर्म बनवाने की अनुमति नहीं देता है.”

खेल संबंधी संचालन समिति का कहना है कि उसने हर सीरीज के लिए जरूरी संख्या में यूनीफॉर्म उपलब्ध कराई थी.

आईसीसी के प्रवक्ता कोलिन गिब्सन ने बीबीसी को बताया, “अंपायरों को दी जाने वाली चीजों के बारे में आईसीसी में हर साल चर्चा होती है. उसी में तय होता है कि बोर्ड के सभी सदस्यों को इन चीजों की कितनी जरूरत है.”

उन्होंने कहा, “उसी संख्या में चीजें बोर्ड के सदस्यों को भेज दी जाती हैं और फिर बोर्ड उनका वितरण सुनिश्चित करता है.”

उन्होंने बताया कि अंतरराष्ट्रीय सूची के सभी अंपायरों और इलीट पैनल के अंपायरों समेत मैच रेफ्री को इन चीजों का वितरण खुद आईसीसी करती है.

संबंधित समाचार