विजेंदर...विजेंदर...के नारों से गूँजा मुक्केबाजी सेंटर

विजेंदर सिंह. इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption विजेंदर सिंह की जीत का असर बॉक्सिंग सेंटर में दर्शक दीर्घा में बैठे भारतीयों में खूब नज़र आया.

गुरुवार देर रात भारत के स्टार बॉक्सर विजेंदर सिंह ने अमरीकी मुक्केबाज को हराकर पदक की उम्मीद बरकरार रखी है.

लंदन के एक्सेल सेंटर में हुए इस मुकाबले को देखने बड़ी संख्या में भारतीय आए थे. भारत का झंडा लिए और नारे लगाते इन लोगों का उत्साह देखते ही बनता था.

मुकाबला देखने के लिए यहां अमरीकी भी अच्छी खासी संख्या में मौजूद थे.

लेकिन भारतीयों के शोर-शराबे के बीच अमरीकियों की आवाज दब जा रही थी.

कुछ अमरीकियों ने भारतीय समर्थकों की नारेबाजी का जवाब देने की कोशिश की, लेकिन वो सब 'जीतेगा भई जीतेगा, विजेंदर जीतेगा'- के नारों में डूब गया.

जैसे ही विजेंदर मुक्के लहराते बॉक्सिंग रिंग में घुसे, लगा ही नहीं कि आप लंदन में हो. ऐसा लगा मानो आप दिल्ली या मुंबई में बैठकर कोई मैच देख रहें हो.

जीत का जश्न

भारतीय तिरंगा लहराते विजेंदर समर्थकों ने पूरे स्टेडियम को मैच खत्म होने तक गुंजायमान रखा.

कोई, विजेंदर इस बार गोल्ड लेकर ही जाना चिल्ला रहा था तो कोई विजेंदर के आगे किसी अन्य खिलाड़ी के ना टिकने की बात कह रहा था.

और फिर जैसे ही विजेंदर के इस कड़े संघर्ष वाले मुकाबले में जीतने की घोषणा हुई, लगा जैसे पूरा स्टेडियम इस जीत की जश्न में डूब गया हो.

विजेंदर भी काफी खुश नजर आ रहे थे. मैच के बाद बातचीत करते हुए उन्होंने कहा, ''ये लोग मुझे प्यार करते हैं और मैं भी उन्हें प्यार करता हूँ. मैं उनकी उम्मीदों पर खरा उतरने की कोशिश करूँगा.''

इतने में कुछ भारतीय दर्शक मीडिया ज़ोन के बाहर जमा हो गए और विजेंदर.....विजेंदर के नारे लगाने लगे. विजेंदर ने हाथ हिलाकर उनका भी अभिवादन स्वीकार किया.

विजेंदर से पूरे भारत को काफी उम्मीदें हैं. ब्रिटेन में रहने वाले भारतीय भी उनसे पदक की आस लगाए बैठे हैं.

बीजिंग में कांस्य जीतने वाले विजेंदर क्या इस बार अपने पदक का रंग बदल पाएँगे, यही यहाँ रह रहे भारतीयों का सवाल है.

संबंधित समाचार