ओलंपिक दिन 11- हिट/मिस

  • 7 अगस्त 2012

हिट

मैरीकॉम इमेज कॉपीरइट PTI

मैरीकॉम.....मैरीकॉम के नारों से गूँजता लंदन का एक्सेल एरीना और मैरीकॉम की शानदार जीत.

मैरीकॉम ने सेमीफाइनल में जगह बनाई और भारत के लिए पदक पक्का कर दिया.

लेकिन उनकी चाह गोल्ड मेडल जीतना है.

उन्होंने क्वार्टर फाइनल में आसान जीत दर्ज की है.

विकास गौड़ा वर्ष 2010 के राष्ट्रमंडल खेलों में रजत पदक जीत चुके हैं तो उसी साल के एशियाई खेलों में उन्हें कांस्य पदक मिला था.

ओलंपिक खेलों में भारतीय एथलीटों की दुर्दशा के बीच विकास गौड़ा से भी कम ही उम्मीद थी.

लेकिन गौड़ा ने डिस्कस थ्रो के फाइनल में जगह बनाकर उम्मीद बढ़ाई है.

हालाँकि उनका रास्ता आसान नहीं होगा. उन्हें दुनिया भर के बेहतरीन एथलीटों से टक्कर लेनी पड़ेगी.

जिम्नास्टिक में ब्राजील के आर्थर जनेटी ने चीन के चेन यिबिंग को चौंकाते हुए रिंग मुकाबले में गोल्ड हासिल कर लिया है.

पिछले चैम्पियन येन को यकीन ही नहीं हो रहा था कि जनेटी ने ये कमाल कैसे कर दिया.

जिम्नास्टिक के महान खिलाड़ी माने जाने वाले चीन के चेन अपनी जीत को लेकर आश्वस्त थे.

लेकिन ब्राजील के जनेटी ने शानदार स्कोर करके चेन को पीछे छोड़ दिया.

ग्रेट ब्रिटेन की महिला हॉकी टीम ने सेमी फाइनल में जगह बना ली है.

जापान की टीम ने चीन को 1-0 से हराकर सेमी फाइनल में पहुँचने की उसकी उम्मीदों को चकनाचूर कर दिया.

इसका सीधा लाभ ब्रिटेन की टीम को हुआ और वो सेमी फाइनल में पहुँच गई.

ब्रिटेन की टीम इस समय दुनिया की चौथी रैंक वाली टीम है. ब्रिटेन के ग्रुप से नीदरलैंड्स ने भी सेमी फाइनल में जगह बना ली है.

तीरंदाजी में अपना वर्चस्व साबित करते हुए दक्षिण कोरिया ने एक और पदक अपने नाम किया.

दक्षिण कोरिया के ओह जिन हायेक ने जापान के ताकाहारू फुरुकावा को 7-1 से मात दी.

इस शानदार जीत के साथ उन्होंने स्वर्ण पदक हासिल किया.

तीरंदाजी में दक्षिण कोरिया का ये तीसरा स्वर्ण पदक है.

मिस

इमेज कॉपीरइट Reuters

लंदन ओलंपिक में जिस मुक्केबाज से भारत को सबसे ज्यादा उम्मीद थी, वो हार कर अब बाहर हो गया है.

क्वार्टर फाइनल मैच में अच्छी शुरुआत के बावजूद विजेंदर सिंह उजबेकिस्तान के मुक्केबाज से हार गए.

दूसरे और तीसरे राउंड में विजेंदर बैकफुट पर आ गए, जिसका फायदा प्रतिद्वंद्वी मुक्केबाज ने उठाया.

उनकी हार के बाद भारतीय कैंप में निराशा की लहर है.

दस मीटर एयर राइफल में कांस्य पदक जीतकर भारत को लंदन ओलंपिक का पहला पदक दिलाने वाले गगन नारंग ने 50 मीटर राइफल थ्री पोजिशंस में निराश किया.

लेकिन गगन फाइनल के लिए क्वालिफाई भी नहीं कर पाए.

उनके साथ-साथ भारत के एक और निशानेबाज संजीव राजपूत ने भी इस प्रतियोगिता में हिस्सा लिया.

लेकिन दोनों फाइनल में नहीं पहुँच पाए. गगन नारंग 20वें और संजीव राजपूत 26वें स्थान पर रहे.

निशानेबाजी में मानवजीत सिंह संधू ने भी काफी निराश किया.

ट्रैप मुकाबले में वे भी क्वालिफाई नहीं कर पाए.

दो दिन क्वालिफाइंग मुकाबले चले, लेकिन मानवजीत सिंह संधू अपना प्रदर्शन बेहतर नहीं कर पाए.

आखिरकार वे 11 नंबर पर आए और उन्हें फाइनल में जगह नहीं मिली.

अल्जीरिया के तौफीक मखलोफी लंदन ओलंपिक के दौरान नौवें एथलीट बन गए हैं, जिन्हें जान-बूझकर खराब खेलने के कारण लंदन ओलंपिक से

बाहर कर दिया गया है.

मखलोफी से पहले बैडमिंटन के आठ खिलाड़ियों को बाहर का रास्ता दिखाया गया था.

रविवार को मखलोफी ने 1500 मीटर के सेमीफाइनल में जीत हासिल की थी.

लेकिन समय रहते अल्जीरिया ने 800 मीटर की दौड़ से उनका नाम वापस नहीं लिया. इस कारण मखलोफी को 800 मीटर की दौड़ में हिस्सा लेना पड़ा. लेकिन उन्होंने 200 मीटर की दौड़ ही पूरी की और फिर हट गए.

अंतरराष्ट्रीय एथलेटिक्स फेडरेशन ने इस पूरे मामले पर नाराजगी जताते हुए मखलोफी को ओलंपिक से बाहर कर दिया है.

चरस और गांजा खाने के कारण अमरीकी जूडो खिलाड़ी निकोलस डेलपोपोलो को ओलंपिक से बाहर कर दिया गया है.

डेलपोपोलो ने अपनी गलती मान भी ली है.

लेकिन उनका कहना है कि उनसे अनजाने में ये गलती हुई है.

23 वर्षीय डेलपोपोलो 73 किलोग्राम वर्ग में सातवें स्थान पर आए थे.

संबंधित समाचार