देवेंद्रो बनाम पैडी : एक बाउट इतिहास के लिए

  • 8 अगस्त 2012
इमेज कॉपीरइट AP

भारत के एल देवेंद्रो और आयरलैंड के पैडी बर्नेस गुरुवार की सुबह ओलंपिक में 49 किलोग्राम भार वर्ग के क्वार्टर फाइनल में जब एक दूसरे के सामने होंगे तो यह महज एक बॉक्सिंग मैच ही नहीं होगा.

मणिपुर के देवेंद्रो के लिए विजेंदर सिंह जैसे स्टार बॉक्सर के रुतबे में दबे बाकी बॉक्सरों में से एकाएक उबर कर ओलंपिक मेडल जीतने का मौका है.

दूसरी तरफ अगर पैडी देवेंद्रो को हराते हैं तो वे आयरलैंड के खेल इतिहास का हिस्सा हो जाएंगे. क्योंकि 1928 और 1932 में मेडल जीतने वाले पेट कैलहन के बाद वह लगातार दो ओलंपिक में पदक जीतने वाले पहले आयरिश खिलाड़ी होंगे.

25 साल के पैडी के पास बीजिंग ओलंपिक का कांस्य पदक भी है. लंदल ओलंपिक में वह आयरलैड के अकेले बॉक्सर है.

20 साल के देवेंद्रो ओलंपिक में अपनी शुरुआत में होडुरास के बॉक्सर को महज 36 सेकेंड में हरा कर सनसनी फैला चुके हैं. चौक्कने पैडी की तुलना में देवेंद्रो काफी आक्रामक बॉक्सर हैं.

वैसे पैडी के लिए देवेंद्रो से मुकाबला एक बार फिर समय़ का चक्र पूरा करने जैसा होगा. 2010 के दिल्ली राष्ट्रमंडल खेलों के सेमीफाइनल में अमनदीप सिंह को 5-0 से हरा कर उन्होंने फाइनल में जगह बनाई थी और गोल्ड मेडल जीता था.

आक्रामक देवेंद्रो

आक्रामक बॉक्सिंग के आदी देवेंद्रो का प्रोफाइल भी काफी मजबूत है. मिलान में 2009 में हुई वर्ल्ड चैंपियनशिप में देवेंद्रो गोल्ड मेडल जीत चुके हैं. इस समय उन्हें देश का बेहतरीन बॉक्सर माना जा रहा है.

देवेंद्रो मंगोलिया के सेरदांबा पुरेनेदोरी के 16-11 से हरा कर क्वार्टन फाइनल में पहुंचे हैं.

अच्छी शुरुआत करने में विश्वास रखने वाले देवेंद्रो की तरह पैडी ने भी काफी मुश्किलों से अपने कैरियर को आगे बढ़ाया है. बीजिंग ओलंपिक से पहले उन्हें भरोसा नहीं था कि पैसे की कमी के कारण वह जा भी पाएंगे या नहीं. इससे पहले पैडी ने अपनी जेब से पैसे खर्च कर ही तीन राष्ट्रमंडल खेलों की तैयारी की थी.

पैडी की तैयारी

पैडी के लिए देवेंद्रो के खिलाफ अच्छी बात यह है कि लंदन ओलंपिक शुरु होने से पहले भारतीय मुक्केबाजों ने 10 दिन नेशनल जिम में ट्रेनिंग की थी. इस दौरान आयरलैंड टीम प्रबंधन ने भारतीयों का जायजा लिया था.

इमेज कॉपीरइट PA
Image caption काफी कड़े प्रतिद्वदी हैं आयरलैंड के बॉक्सर पैडी बर्नेस

पैडी बेलफास्ट के होली फैमली क्लब से निकले हैं. क्लब के कोच गैरी स्टोरी देवेंद्रो के साथ पैडी की फाइट को लेकर काफी उत्साहित हैं.

पैडी से साथ थोड़ी दिक्कत है. कई टीकाकारों का मानना है कि बड़े मौकों पर स्टेडियम के माहौल को वे खुद पर हावी होने देते हैं.

बीजिंग ओलंपिक के क्वार्टर फाइनल में उन्होंने पोलैंड के बॉक्सर को 11-5 से हराया था. लेकिन अगले मुकाबले में भारी शोर के बीच वह चीन के बॉक्सर जोऊ शिमिंग के सामने 0-15 से हार गए.

अब देखना रोचक होगा कि लंदन में भारतीय मूल के बॉक्सिंग प्रेमियों की स्टेडियम में मौजूदगी में वह देवेंद्रो के खिलाफ कैसा प्रदर्शन करते हैं.

संबंधित समाचार