भारतीय पहलवान गीता फोगट हारीं

गीता फोगट इमेज कॉपीरइट bbc
Image caption गीता फोगट दिल्ली में 2010 में हुए कॉमनवेल्थ खेलों में गोल्ड मैडल जीत चुकी हैं.

लंदन ओलंपिक खेलों में भारतीय महिला पहलवान गीता फोगट 55 किलोग्राम वर्ग की फ्रीस्टाइल कुश्ती के क्वार्टर फाइनल में नहीं पहुंच पाईं हैं.

उन्हें कनाडा की 35 वर्षीय पहलवान टोन्या लिन वेरबीक ने हराया.

गीता फोगट ओलंपिक खेलों के लिए क्वालीफाई करने वाली पहली भारतीय महिला पहलवान थीं.

पहले राउंड में कनाडा की टोन्या लिन वेरबीक ने एक अंक बनाया तो दूसरे राउंड गीता ने भी एक प्वाइंट बनाया. लेकिन तीसरे राउंड में अनुभवी कनाडाई प्रतिद्वंद्वी ने गोता को कोई मौक नहीं दिया.

उन्होंने अप्रैल 2012 में कज़ाकिस्तान के अलमाती में हुए ओलंपिक क्वालीफाईंग टूर्नामेंट में स्वर्ण पदक हासिल किया था.

गीता फोगट

गीता फोगट का मुकाबला बीजिंग ओलंपिक खेलों की कांस्य और एथेंस ओलंपिक में रजत पदक जीतने वाली कनाडा की पहलवान टोन्या लिन वेरबीक से था.

हरियाणा के भिवानी ज़िले के बिलाली गांव की गीता फोगट ने दिल्ली में साल 2010 में हुए राष्ट्रमंडल खेलों में स्वर्ण पदक जीता था.

ये किसी भी भारतीय महिला पहलवान के लिए इन खेलों में पहला पदक था.

उनके पिता महावीर सिंह ख़ुद एक पहलवान रह चुके हैं और वे ही गीता के कोच भी हैं. उनकी बहनें भी पहलवान हैं.

संबंधित समाचार