भूपति बोपन्ना फाइनल में

 रविवार, 19 अगस्त, 2012 को 18:25 IST तक के समाचार

भूपति बोपन्ना को डेविस कप टीम से हटाया गया

छठी वरीयता प्राप्त भारत के महेश भूपति और रोहन बोपन्ना सिनसिनाटी टेनिस प्रतियोगिसा के फाइनल में पहुँच गए हैं.

57 मिनटों तक चले सेमी फाइनल में उन्होंने इवान डोडिज और मारसेलो मेलो को सीधे सेटों में 6.4 6.3 से हराया. भारतीय जोड़ी ने अपनी पहली सर्विस पर 82 फ़ीसदी अंक जीते और पाँच में से तीन ब्रेक प्वॉएंट्स को अंकों में परिवर्तित किया.

फाइनल में उनका मुकाबला स्वीडन के रॉबर्ट लिंडस्टेड और रोमानिया के होरिया टेकाऊ से होगा जिन्होंने दूसरी वरीयता प्राप्त ब्रायन बंधुओं की जोड़ी को 7.5 6.7 6.2 से हरा कर फाइनल में जगह बनाई.

भूपति और बोपन्ना अगर यह फाइनल जीतते हैं यो यह उनकी इस साल साथ साथ खेलते हुए दूसरी जीत होगी. इससे पहले वह दुबई ओपेन जीत चुके हैं. 2011 में भूपति ने लियेंडर पेस के साथ मिल कर यह टूर्नामेंट जीता था.

डेविस कप से हटाए गए

इन दोनों भारतीय खिलाड़ियों के लिए इस जीत ने एक तरह से मलहम का काम किया होगा क्योंकि एक दिन पहले ही इन दोनों को लंदन ओलंपिक में अनुशासनहीनता दिखाने के आरोप में भारत की डेविस कप टीम से हटाया जा चुका है.

न्यूज़ीलैंड के खिलाफ़ 14 सितंबर से चंडीगढ़ में होने वाले डेविस कप मुकाबले में बिल्कुल नई भारतीय टीम चुनी गई है. लियेंडर पेस और सोमदेव देववर्मन के भी न खेलने के कारण यूकी भाँभरी ओर विष्णु वर्धन न्यूज़ीलैंड के खिलाफ भारत की चुनौती पेश करेंगे.

लंदन ओलंपिक में भूपति और बोपन्ना ने लियेंडर पेस के साथ खेलने से इंकार कर दिया था और पेस को अंतत : विष्णु वर्धन के साथ खेलना पड़ा था जहाँ दूसरे चक्र में उनकी हार हो गई थी.

इससे जुड़ी और सामग्रियाँ

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.